लगातार बढ़ रहा है फूड डिलिवरी का कारोबार, अरबों रुपये हो रहे निवेश

  • by Yogesh
  • June 14, 2019

आज कर देश में बढ़ते फूड डिलिवरी (food delivery) कोरोबार को देखते हुए कई कंपनियां इस कारोबार में उतर रही है। अगर भारत की फूड डिलिवरी (food delivery) कंपनियों की बात करें तो आज कल कई ऐसे फूड डिलीवरी (food delivery) ऐप चल रहे हैं जो अपनी सर्विस देते हैं।

भारत में वर्तमान में फ्रेश मेनू (FreshMenu), फूड पंडा (FoodPanda), जोमैटो (Zomato), उबर इट्स (Uber Eats) की सेवाएं भारत के हजारों शहरों में पहुंच चुकी हैं। वहीं कैब सर्विस (Cab service) देने वाली कंपनी उबर (ubar) ने पिछले साल ही भारत में फूड डिलीवरी (food delivery) सर्विस शुरू की है। कंपनी का दावा है कि वह किसी भी दूसरे ऐप के मुकाबले फास्ट डिलीवरी (fast delivery) करती है लेकिन इन सब के बीच स्विगी डेली ऐप (Swiggy Daily App) की खासियत यह है कि ऑर्डर करने के बाद खाना खुद भी जाकर लाया जा सकता है। इतना ही नहीं इस ऐप से कई बार कैशबैक ऑफर भी मिलता है।

एक रिपोर्ट के अनुसार आने वाले 5 सालों में दुनिया भर में फूड डिलीवरी मार्केट 16,400 हजार करोड़ डॉलर (करीब 11 लाख करोड़ रुपए) का हो जाएगा। स्मार्टफोन (Smartphones), इंटरनेट (internet) का इस्तेमाल बढ़ने से दुनियाभर में फूड डिलीवरी बिजनेस (Food delivery business) में तेजी आई है। भारत में कुछ साल पहले यह मार्केट सालाना लगभग 1.18 लाख करोड़ रुपए का ही था जो कि अब 16.2 प्रतिशत की रफ्तार से बढ़ रहा है। अब इस बाजार में तमाम बड़ी कंपनियां आ गई  हैं। यहां तक कि विशाल मल्टीनेशनल कंपनी गूगल (Google) भी अब इस बाजार में आ गई है।

READ  SucSEED Venture Partners ने किया लर्निंग एक्टिविटी प्लेटफॉर्म XploraBox में निवेश

बता दें कि गूगल (Google) के माध्यम से ग्राहक अलग-अलग ऐप डाउनलोड किए बिना ही अपने पसंदीदा रेस्टोरेंट से खाना आर्डर कर सकते है। वहीं कोई अगर अपने पसंदीदा खाने के लिए गूगल सर्च (Google search) का इस्तेमाल कर रहा है तो उसे बता दिया जाता है कि उसे कैसे, कहां ऑर्डर करना होगा। वह गूगल पे (Google pay) के जरिए अपने ऑर्डर का पेमेंट भी कर सकता हैं।

हालांकि फिलहाल गूगल (Google) ने खुद फूड डिलीवरी बिजनेस (Food delivery business) में नहीं आना तय किया है लेकिन (Google)  बिजनेस से जुड़ी कंपनियों के साथ करार कर रही है। इस कड़ी में वह अमेरिका में डोर डैश (Door Dash), पोस्टमेट्स (Postmates), डिलीवरी डॉट कॉम (Delivery.com), स्लाइस (Slice) और चाउ नाऊ (Chow Now) के साथ पहले ही करार कर चुकी है।

READ  सीक्विया, नैस्पर्स, वेंचर हाइवे ने क्विक राइड के साथ किया 100 करोड़ का निवेश

वहीं स्विगी ऐप (Swiggy App) पर हर तरह के खाने के दो दर्जन से अधिक विकल्प मौजूद हैं। कंपनी अपने नेटवर्क में संगठित वेंडरों की संख्या बढ़ाने के साथ ही स्थानीय स्तर पर अधिक डिमांड वाली टिफिन सेवाओं को भी अपने साथ जोड़ रही है।

आलोक जैन का कहना है कि भारत में डेली मील सब्सक्रिप्शन मार्केट (Daily Mile Subscription Market) इस समय बेहद असंगठित है। स्विगी (Swiggy ) डेली प्रबंधन इस तरह की असंगठित सेवाओं को संगठित कर मुनासिब कीमत पर स्वादिष्ट भोजन के लिए एक बड़ा प्लेटफॉर्म मुहैया करा रहा है।

वहीं फूडपांडा (Foodpanda) की सर्विस इस समय दुनिया भर के चौबीस देशों में चल रही है। यह कंपनी इन देशों में 45 मिनट में फूड डिलीवरी (food delivery) की गारंटी देती है। वहीं जोमैटो (Zomato) की सर्विस इस समय भारत के दस हजार शहरों तक पहुंच चुकी है। वहीं फ्रेश मेनू (FreshMenu) भी अपने फूड डिलीवरी ऐप (food delivery app) के जरिए चौबीस घंटे अपनी सेवा दे रही है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *