Microsoft ने भारत में 10 शिक्षण संस्थानों के साथ मिलकर की AI डिजिटल लैब्स की शुरुआत

  • by Yogesh
  • June 14, 2019

प्रौद्योगिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने गुरुवार को देश के 10 उच्च शिक्षण संस्थानों के साथ मिलकर एआई डिजिटल लैब (AI Digital Labs) शुरू करने की घोषणा की है।

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के इस कार्यक्रम के अंतर्गत आने वाले संस्थानों में बिट्स पिलानी (BITS Pilani) , बीएमएल मुंजाल विश्वविद्यालय (BML Munjal University), आईएसबी ( ISB), कल्पतरु प्रौद्योगिकी संस्थान (Kalpataru Institute of Technology), केएल विश्वविद्यालय (KL University), पेरियार विश्वविद्यालय (Periyar University), करुणा विश्वविद्यालय (Karunya University), एसआरएम विश्वविद्यालय (SRM University), एसवीकेएम (एनएमआईएमएस) (SVKM (NMIMS)) और ट्राइडेंट एकेडमी ऑफ टेक्नोलॉजी (Trident Academy of Technology) शामिल हैं।

यह सहयोग संस्थागत क्षमता के साथ-साथ संस्थागत स्थापना को बढ़ावा देगा, और छात्रों के लिए प्रासंगिक शैक्षिक विकल्प प्रदान करेगा। इस कार्यक्रम के साथ, माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने 1.5 लाख छात्रों को प्रभावित करने का अनुमान लगाया, जिससे वे भविष्य में तैयार कर्मचारियों के लिए कुशल हो सकें।

READ  जल्द ही 'PVR Cinemas' हासिल कर सकता है 700 करोड़ रूपये का निवेश: रिपोर्ट

इस बात की जानकारी देते हुए माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने अपने एक बयान में कहा कि, “इससे छात्रों को भारत और वैश्विक अर्थव्यवस्था में उभर रहे अंतर को भरने के लिए आवश्यक कौशल हासिल करने में मदद मिलेगी।”

इस लॉन्च पर बात करते हुए माइक्रोसॉफ्ट इंडिया (Microsoft India) के अध्यक्ष अनंत माहेश्वरी ने कहा कि,

“जैसा कि एआई (artificial intelligence) संगठनों को कौशल सेट के साथ प्रतिभा की आवश्यकता होगी जो अब मौजूद हैं। शिक्षक और संस्थान देश में होने वाली कुशल क्रांति के अभिन्न अंग हैं। सही प्रौद्योगिकी संरचना, पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण के साथ, हम आज के छात्रों को कल के भारत के निर्माण के लिए सशक्त बना सकते हैं। ”

तीन साल के कार्यक्रम के हिस्से के रूप में माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) चयनित संस्थानों को सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास बुनियादी ढांचे, पाठ्यक्रम और सामग्री, क्लाउड और एआई सेवाओं तक पहुंच, तथा डेवलपर समर्थन का समर्थन करेगा। साथ ही कंपनी कोर एआई इन्फ्रास्ट्रक्चर (core AI infrastructure ) और आईओटी हब (IoT Hub ) की स्थापना की सुविधा भी प्रदान करेगी और एआई विकासात्मक उपकरणों और  Azure AI सेवाओं जैसे माइक्रोसॉफ्ट कॉग्निटिव सर्विसेज ( Microsoft Cognitive Services), एज़्योर मशीन लर्निंग (Azure Machine Learning) और बॉट सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला तक पहुंच प्रदान करेगी।

READ  Xiaomi ने भारत में बढ़ाए Redmi 6A, Mi TVs, Mi Powerbank 2i के दाम, जाने क्या हैं नई क़ीमतें

हाल ही में Microsoft-IDC सर्वेक्षण Ready Future Ready Business ने एशिया पैसिफिक की ग्रोथ पोटेंशियल थ्रू AI ’का आकलन करते हुए कहा गया कि भारत में केवल एक तिहाई संगठनों ने ही अपनी AI यात्रा शुरू की है, 77 प्रतिशत व्यापारी इस बात से सहमत हैं कि AI संगठन की प्रतिस्पर्धा के लिए महत्वपूर्ण है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *