Nabard ने कृषि, रूरल स्टार्टअप के लिए बनाया 700 करोड़ रुपये का वेंचर कैपिटल फंड

  • by Yogesh
  • May 15, 2019

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) ने कृषि और ग्रामीण केंद्रित शेयरों में इक्विटी निवेश (equity investments) के लिए 700 करोड़ रुपये के वेंचर कैपिटल फंड की घोषणा की है।

नाबार्ड (NABARD) अब तक अन्य फंडों में योगदान दे रहा था, लेकिन यह पहली बार हो रहा है कि  ग्रामीण विकास बैंक (rural development bank ) ने अपना खुद का एक फंड लॉन्च किया है। वहीं कंपनी द्वारा एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि फंड को नाबार्ड (NABARD) की सहायक कंपनी नाबिस्ट्स (Nabventures) ने लॉन्च किया है और इसमें 500 करोड़ रुपये का प्रस्तावित कोष है, जिसे ग्रीनशीओ विकल्प कहा जाता है।

READ  देश में 'होम क्लीनिंग' को एक नया आयाम देने के लिए UClean और वैश्विक ब्राण्ड ChemDry ने मिलाया हाथ

नाबार्ड (NABARD) ने फंड के लिए एक एंकर प्रतिबद्धता दी है, जो कृषि (agriculture), खाद्य (food) और ग्रामीण विकास क्षेत्र (rural development space) में लगे स्टार्टअप्स में निवेश करेगी। नाबार्ड (NABARD) और अन्य सीमित भागीदारों द्वारा किए गए निवेशों का विवरण उपलब्ध नहीं था।

वहीं नाबार्ड(NABARD) के अध्यक्ष हर्ष कुमार भनवाला ने इस बारे में कहा कि “फंड का उच्च प्रभाव होगा क्योंकि यह कृषि (agriculture), भोजन (food) और ग्रामीण आजीविका (rural livelihoods) के मुख्य क्षेत्रों में निवेश पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देगा। Nabventures नाबिट्स अब अपने फोकस क्षेत्रों में एसेट-लाइट (asset-light), इनोवेटिव (innovative), टेक्नॉलॉजी की अगुवाई वाले स्टार्टअप्स में इक्विटी निवेश के लिए स्काउटिंग कर रहा है।

READ  KaHa ने ICT फंड के नेतृत्व में सीरीज B में जुटाया $ 6.2M का फंड

बता दें कि अब तक नाबार्ड (NABARD) ने 16 वैकल्पिक निवेश कोष में 273 करोड़ रुपये का योगदान दिया है। नाबार्ड (NABARD) अब 100 प्रतिशत सरकार के स्वामित्व में है, जो कि अब उपायों के माध्यम से स्टार्टअप पर अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *