कर्नाटक हाईकोर्ट की परिवहन विभाग को फटकार, “सिर्फ़ Ola को क्यूँ किया राज्य में बैन”

  • by Ashutosh Kumar Singh
  • April 9, 2019

बीते कुछ समय से कर्नाटक में परिवहन विभाग और Ola के बीच चल रहा विवाद जग जाहिर है। और Techसंवाद आपको इससे जुड़ी पल पल की खबर हमेशा बताता रहा है। 

और अब इन्हीं ख़बरों की श्रृंखला में एक खबर आज आई है, जो शायद कहीं न कहीं ओला (Ola) को थोड़ी राहत की साँस जरुर दे। दरसल जैसा की आप जानते हैं कि 18 मार्च को Ola का एग्रीगेटर लाइसेंस कर्नाटक विभाग के परिवहन विभाग द्वारा सस्पेंड कर दिया गया था।  

इसके बाद 25 मार्च को जब कंपनी 15 लाख रूपये का जुर्माना भरने को तैयार हुई, तब कहीं जाकर उनको वापस संचालन की इजाज़त दी गई। लेकिन हालाँकि Ola ने पुनः अपनी बाइक-टैक्सी सेवा शुरू नहीं की। और इसके साथ ही कंपनी ने सरकार के परिवहन विभाग के खिलाफ़ कर्नाटक हाईकोर्ट में दोपहिया टैक्सियों को संचालित करने के लिए लाइसेंस न जारी नहीं करने संबंधी याचिका भी दायर की।  

दरसल कोर्ट ने परिवहन विभाग को अपने दृष्टिकोण को निष्पक्ष रखने का निर्देश देते हुए 16 अप्रैल तक बाइक-टैक्सी को लेकर राज्य और विभाग की स्थिति प्रस्तुत करने हेतु रिपोर्ट देने को कहा है।

हर व्यक्ति या संस्था के संवैधानिक अधिकार का हवाला देते हुए, न्यायमूर्ति एस सुजाता ने राइड-हाइलिंग फर्म ओला की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा, 

“किसी भी व्यक्ति/एग्रीगेटर की व्यावसायिक गतिविधियों को आप ऐसे प्रतिबंधित नहीं कर सकतें हैं, जब उसके प्रतिद्वंद्वी को आप वहीँ कार्य करने की इजाज़त दे रहें हों। कानून सभी के लिए बराबर है, आप महज़ चुनिंदा लोगों के ही खिलाफ़ कार्यवाई नहीं कर सकतें हैं।”

दरसल Ola ने अपनी याचिका में राज्य के परिवहन विभाग पर यह आरोप लगाया है कि उन्हीं के सामान सेवाएं प्रदान करने वाले प्लेटफार्मों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है, जबकि उन्हीं सेवाओं के लिए Ola को दंडित किया गया।

हम आपको बता दें कि कुछ समय पहले जैसा कि हमनें आपको बताया था कर्नाटक सरकार के परिवहन विभाग ने राज्य में बाइक-टैक्सी सेवाओं को अवैध करार देते हुए, इस क्षेत्र में कार्यरत Ola, और Rapido कि लगभग 200 बाइकों को जब्त भी किया था।

इन बाइक मालिकों के खिलाफ़ अवैध बाइक टैक्सियों के संचालन के तहत चार्ज लगाते हुए केस भी दर्ज किया गया है। इसके साथ ही कथित रूप से टैक्सी सेवाओं के संचालन के उद्देश्यों के लिए सफेद नंबर प्लेट वाली बाइक का उपयोग करने के लिए उन पर जुर्माना भी लगाया गया था।

READ  रेलवे ने लॉन्च किया 'अनारक्षित टिकटों की बुकिंग' के लिए 'नया मोबाइल ऐप'

इस बीच Ola द्वारा परिवहन विभाग से बाइक-टैक्सी संचालन संबंधी लाइसेंस माँगने के बाद ऐसी खबर है कि अब सरकार अब इस प्रावधान को जल्द से जल्द बनाने के प्रयास में लगी है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *