January 21, 2019
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

Paytm के सीईओ ने कहा, सरकार ‘Infosys चीफ़’ को बनाए देश का आधिकारिक ‘CTO’

  • by Ashutosh Kumar Singh
  • January 12, 2019

अभी हाल ही में ही भारत में डिजिटल भुगतान तंत्र को मजबूत करने के लिए, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इनफ़ोसिस (Infosys) के सह-संस्थापक नंदन नीलेकणी की अध्यक्षता में एक विशेष समिति का गठन किया था।

यह समिति भारत में भुगतान संबंधी डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने के लिए सुझाव प्रदान करेगी और साथ ही इस क्षेत्र पर अपनी नज़र भी बनाए रखेगी। इस समिति में नंदन नीलेकणी के साथ चार अन्य सदस्य भी हैं। आरबीआई के पूर्व डिप्टी गवर्नर एचआर खान, विजया बैंक के पूर्व एमडी और सीईओ किशोर सांसी, पूर्व आईटी और स्टील सचिव अरुणा शर्मा, IIM अहमदाबाद से सेंटर फॉर इनोवेशन इनक्यूबेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप के अध्यक्ष, संजय जैन।

यह पांच सदस्यीय पैनल देश में डिजिटल भुगतान उपकरणों के उपयोग में तेजी लाने और डिजिटल लेनदेन की सुरक्षा और सुरक्षा के ढांचे तैयार करने हेतु कार्य करेगा।

दरसल इस फ़ैसले के बाद कल ही देश की सर्वोच्च अदालत ने इनफ़ोसिस (Infosys) के सह-संस्थापक नंदन नीलेकणी की अध्यक्षता में एक और विशेष समिति के गठन को मंजूरी दे दी है, जो देश में होने वाली प्रवेश परीक्षाओं को नक़ल और तकनीकी तौर पर भी छेड़छाड़ मुक्त बनाने के प्रयास करेगी और सुझाव देगी।

लेकिन सरकार द्वारा लगातार नंदन नीलेकणी को देश की तकनीकी समस्याओं के समाधान हेतु लगातार शामिल करने पर अब Paytm के संस्थापक और सीईओ, विजय शेखर शर्मा ने चुटकी भरे लहजे में आज एक ट्वीट करके, नंदन नीलेकणी को देश का अनौपचारिक CTO बताया। और साथ ही सरकार से उन्हें औपचारिक तौर पर देश का CTO बनाने की मांग भी की।  

दरसल भले ही विजय शेखर शर्मा ने यह ट्वीट कुछ सोच कर या चुटकी लेने के लहज़े में किया हो। लेकिन उन्होंने देश में काफी समय से चली आ रही बहस को एक बार फ़िर हवा दे दी है। देश में लम्बें समय से तकनीकी क्षेत्र में सरकार द्वारा एक उचित अधिकारिक सदस्यों की  नियुक्ति की माँग की जा रही है।  जिससे देश तकनीकी रूप से ज़माने के साथ अपडेटेड रहने के साथ ही भविष्य को लेकर तकनीकी क्षमताओं से भी लैस रहे। 

खैर! इस बीच ट्विटर पर लोग विजय शेखर शर्मा के ट्वीट का समर्थन करते नज़र आए और साथ ही कई लोगों ने नंदन नीलेकणी की तारीफ़ करते हुए उन्हें इस पद के लिए एक उपयुक्त चुनाव माना।  

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *