“कुंभ आयें, गंगा नहायें और उद्यमी बनकर जाए”: SIDBI (कौन बनेगा उद्यमी?)

  • by Ashutosh Kumar Singh
  • January 30, 2019

जैसा की सबको पता है कि उत्तर प्रदेश की प्रयागराज की धरती पर कुंभ आयोजित किया जा रहा है। ‘दिव्य कुंभ, भव्य कुंभ’ की थीम पर आयोजित यह आयोजन इस बार बेहद दिलचस्प सा नज़र आ रहा है।

जहाँ एक तरफ सरकार ने प्रयागराज को लोगों का स्वागत करने के लिए बेहद खुबसूरत ढंग से तैयार किया है। वहीँ साथ ही इस बार देश भर से कई संस्थाएं इस कुंभ को और भी रोचक और सार्थक बनाने का प्रयास करती नज़र आ रहीं हैं। 

और इसी श्रृंखला में अब प्रयागराज का यह दिव्य कुंभ देश में वैसे ही काफ़ी गर्मजोशी से बढ़ रही उद्यमियता को और बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है।

दरसल देश में उद्यमिता की भावना को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, स्माल इंडस्ट्रीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया (SIDBI) ने प्रयागराज में चल रहे कुंभ में “स्वावलंबन” थीम के साथ एक स्टाल स्थापित किया है। साथ ही इस स्टॉल की टैगलाइन है,

“आइये गंगा नहाइए और उद्यमी बनकर जाइए”

दरसल SIDBI देश में सूक्ष्म और लघु उद्यमों (MSE) को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। और इसके लिए एक एकीकृत क्रेडिट और विकास सहायता पारिस्थितिकी तंत्र बनाने में लगी, SIDBI लोगों को उद्यमियता के प्रति जागरूक करती नज़र आ रही है

SIDBI इस कार्यक्रम का उपयोग प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट (CGTMSE) और कई अन्य योजनाओं के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए कर रही है।

READ  200 से ज्यादा अमेरिकी कंपनियाँ चीन से हटाकर भारत में लगा सकती हैं अपना मैन्युफैक्चरिंग बेस, मिलेंगी हजारों नौकरियां

इस स्टॉल पर आने वाले लोगों से “कौन बनेगा उद्यमी?” नामक एक क्विज के माध्यम से प्रश्नों का एक सेट पूछा जा रहा है। इसके बाद उनके जवाबों के आधार पर यह पहचानने की कोशिश की जा रही है कि उस व्यक्ति में उद्यमी बनने के गुण है कि नहीं?

मोहम्मद मुस्तफा, SIDBI के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक ने कहा,

“सिडबी (SIDBI) विजन 2.0 को ध्यान में रखते हुए, हम लोगों को उद्यमिता के लिए प्रोत्साहित करने की कोशिशें कर रहें हैं। हमारा मानना ​​है कि भारत जैसे देश में इस क्षेत्र में काफी अवसर हैं। लेकिन भावी उद्यमियों को सही रास्ते पर लाना महत्वपूर्ण है और हम अपने प्रयासों से इसी अंतर को खत्म करने के प्रयास कर रहें हैं।”

हम आपको बता दें कि SIDBI भारत की एक विकास वित्तीय संस्थान है, जिसका मुख्यालय लखनऊ में है और पूरे देश में इसके कार्यालय भी हैं। इसका उद्देश्य उद्योगों को पुनर्वित्त सुविधाएं और अल्पकालिक ऋण प्रदान करना है। और ख़ासकर यह एमएसएमई क्षेत्र में एक प्रमुख वित्तीय संस्थान के रूप में कार्य करता है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *