‘पर्याप्त पूंजी’ नहीं बल्कि ‘बेहतर आईडिया’ वाले उद्यमी कर रहे देश को संचालित: सुरेश प्रभु

  • by Ashutosh Kumar Singh
  • December 3, 2018

नई  दिल्ली हुए TiE Global Summit 2018 के तीसरे संस्करण में उद्यमियों, निवेशकों और उद्योग पेशेवरों का जमावड़ा रहा। इस कार्य्रकम में वाणिज्य व उद्योग और नागरिक उड्डयन मंत्री, सुरेश प्रभु शरीक हुए।

इस कार्यक्रम के दौरान सुरेश प्रभु ने उद्यम पेशेवरों को संबोधित करने हुए कहा कि आज के दौर में समाज में बड़े पैमाने पर परिवर्तन को ट्रिगर करने के लिए स्टार्टअप एक अहम रोल निभाते हैं। साथ ही इस दौरान प्रभु ने कहा कि वर्तमान में देश एक अलग चरण में है, और इसको उद्यमिता/स्टार्टअप द्वारा संचालित किया जा रहा है।

अपने इस संबोधन में केन्द्रीय मंत्री ने कहा,

“इस दौर में देश का संचालन ऐसे लोगों द्वारा किया जा रहा है, जिनके पास भले ही पर्याप्त पूंजी न हो, लेकिन उनके पास बेहतर आईडिया, क्षमताएं और तकनीक है। हम विकास के एक नए चरण में प्रवेश कर रहे हैं और इस तरह हम नौजवानों के लिए नौकरी का भी निर्माण कर पायेंगे।”

प्रभु ने इस बात की ओर भी सबका ध्यान खींचा कि वर्तमान में बड़े उद्योगों के लिए कई मुश्किलें खड़ी हो रही है। और ऐसे में उद्यमिता भविष्य के विकास को बढ़ावा देने के लिए बाध्य है।

READ  अब फ्लाइट में मिल सकेगी कॉलिंग और वाई-फाई की सुविधा, टेलीकॉम कमीशन ने दी मंजूरी

इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि

“स्टार्टअप इंडिया महज़ एक योजना बन कर नहीं सिमटा, बल्कि इसने अपने शाब्दिक अर्थ को वास्तविकता का रूप भी दिया है। अब तब इसके तहत कुछ 30,000 स्टार्टअप पंजीकृत हैं। और स्टार्टअप कि असल संख्या इससे कहीं ज्यादा अधिक है, क्यूंकि इनमें से अधिकतर सरकार की योजनाओं में भी पंजीकृत नहीं हैं।”

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *