VilFresh ने Native Angels के नेतृत्व में जुटाई 1.15 करोड़ रुपये की फंडिंग

  • by Yogesh
  • June 18, 2019

विलफ्रेश (VilFresh) ब्रांड के तहत संचालित कोयंबटूर की एग्री स्टार्टअप लेमेन एग्रो वेंचर्स (Laymen Agro ventures), ने नेटिव एंजेल्स (Native Angels), एक टीयर II और III क्षेत्र-केंद्रित एंजल निवेशक नेटवर्क के नेतृत्व में एंजल फंडिंग में 1.15 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

बता दें कि इस फंडिंग राउंड में उपया सोशल वेंचर्स (Upaya Social Ventures) और संगम वेंचर्स (Sangam Ventures) की भागीदारी भी देखी गई है। यह स्टार्टअप तिरुपुर और मदुरै सहित पांच शहरों में अपने व्यवसाय का विस्तार करने के लिए इस फंडिंग का उपयोग करेगा।

गौरतलब है कि जुलाई 2016 में सेल्वाकुमार वरदराजन द्वारा इस कंपनी की सुरुआत की गई थी। विलफ्रेश (VilFresh) शहरी क्षेत्रों में कृषि उत्पादन की आपूर्ति करता है। इसकी शुरुआत डेयरी किसानों से दूध खरीदने और इसकी आपूर्ति करने से हुई थी।

वहीं इस बारे में जानकारी देते हुए बयान जारी किया है कि,

“कंपनी दूध को सुरक्षित और स्वच्छ तरीके से पैक करती है, और कुछ घंटों में ताजा दूध को ग्राहक को वितरित कर देती है। कंपनी 4am पर दूध खरीदती है और इसे 7am तक ग्राहकों को वितरित कर देती है।”

बता दें कि वर्तमान में VilFresh अपने शहरी उपभोक्ता को लगभग 40 कृषि-आधारित उत्पाद वितरित करता है, कंपनी प्रति माह 26,000 डिलीवरी करती है। तथा कंपनी कोयम्बटूर में 970 से अधिक नियमित ग्राहकों को ताजा उत्पाद देती है, कंपनी इसके लिए 35 से अधिक किसानों से उत्पादों की खरीद करती है।

READ  Amazon Pantry अब भारत के 110 शहरों में करेगी किराने के सामान की डिलीवरी

वहीं इस फंडिंग के बारे में जानकारी देते हुए पर बोलते हुए, नेटिव एंजेल्स (Native Angels) के सीईओ शिवराजाह आर ने कहा कि,

“विल्फ्रेश-लेमन एग्रो टेक (Vilfresh-Laymen Agro Tech) एक सामाजिक उद्यम है, जिसका उद्देश्य बाजार में पर्यावरण के अनुकूल उत्पादों की बढ़ती मांग को पूरा करना है। लेमैन (Laymen) एक संगठित तरीके से ऐसा ही करते हैं। “

बता दें कि मार्च 2019 में पुणे स्थित एग्रीटेक स्टार्टअप एग्रोस्टार (Agritech startup AgroStar) ने बर्टेल्समन इंडिया (Bertelsmann India) के नेतृत्व में सीरीज़ सी फंडिंग राउंड में 27 मिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाई थी। साथ ही पटना स्थित डीहट को हासिल किया था,  जो कि फार्म इनपुट और उपकरणों के लिए 55000 से अधिक किसानों के साथ 150 से अधिक माइक्रो-उद्यमियों को जोड़ता था।

READ  'हैदराबाद मेट्रो रेल' बनेगी "इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन" प्रदान करने वाली देश की पहली मेट्रो

गौरतलब है कि अब निवेशक एग्री स्टार्टअप में काफी निवेश कर रहे हैं। हाल ही में ओमनीवोर (Omnivore) और एगफंड (Agfunder) की अगुवाई में एक फंडिंग सीरीज़ में $ 4 मिलियन जुटाए थे। वहीं अप्रैल में  उदयपुर स्थित एग्रीटेक स्टार्टअप ईएफ पॉलिमर (EF Polymer) को जापान सरकार ने ओकिनावा इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (Okinawa Institute of Science and Technology) में एक साल के रेजिडेंसी इनक्यूबेशन प्रोग्राम के लिए चुना था। EF पॉलिमर को इस कार्यक्रम के हिस्से के रूप में $ 10 मिलियन का वित्त भी प्राप्त हुआ था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *