August 4, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

“आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को लेकर डर और चिंताएं जायज़, नौकरियों को है ख़तरा”: सुंदर पिचई

हाल ही में गूगल (Google) के सीईओ सुंदर पिचई ने वाशिंगटन पोस्ट को दिए एक इंटरव्यू के दौरान AI के भविष्य को लेकर अपनी आशंकाएं व्यक्त की।

इस इंटरव्यू के दौरान पिचई ने कहा,

“आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के संबंध में भविष्य को लेकर जो डर और चिंताएं जताई जा रहीं हैं, वह काफी हद तक जायज़ हैं। टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री इसको जिम्मेदारी से इस्तेमाल करें।”

“हालाँकि इस बात में कोई शक नहीं है कि AI नए युग में ड्राइवरलेस कारों, बिमारियों का पता लगाने वाले उपकरणों संबंधी इनोवेशन के लिए काफी महत्वपूर्ण है। लेकिन इसके साथ ही कंपनियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इस टेक्नोलॉजी का अवैध रूप से शोषण न किया जाए।”

हालाँकि हम अक्सर देखते हैं कि कई टेक्नोलॉजी कंपनियों के प्रमुख आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस को लेकर अपनी अपनी राय व्यक्त करते रहें हैं। लेकिन क़रीब से इसकी समझ रखने वाले लोग हमेशा ही इसको लेकर जितनी संभावनाएं व्यक्त करते हैं, उतना ही इसके प्रति हमें आगाह भी करते हैं।

कुछ ऐसे ही स्पेसएक्स (SpaceX) और टेस्ला (Tesla) के संस्थापक एलन मस्क ने भी कुछ समय पहले AI को परमाणु हथियार की तरह ही खतरनाक बताया था

इस बीच अपने इस इंटरव्यू के दौरान पिचई ने जो एक सबसे महत्वपूर्ण बात कहीं वह यह कि,

“मैं लोगों को लेकर काफ़ी चिंतित हूँ क्यूंकि मिड से लॉन्ग-टर्म बदलावों को वह कम करके आंक रहें हैं”

“गूगल ने भी AI के सिद्धांतों को समझते हुए uska इस्तेमाल करने की पहल की है। हालांकि इस वक्त पूर्ण रूप से इसको समझा नहीं जा सका है, लेकिन हम कोशिश कर रहें है कि इसके सकारात्मक पहलुओं पर कार्य करते हुए, इसको मानव जाति के अनुरूप ढाला जा सके।”

इसके साथ ही पिचई ने आज के दौर में खुद कार्य करने वाली मशीनों और रोबोटों के साथ हो रही दौड़ में नौकरियों के खत्म होने को भी रेखांकित किया। उन्होंने इस विषय में चिंता व्यक्त करते हुए जिम्मेदारी और सुझबुझ के साथ टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने संबंधी हिदायत भी दी।

 

amicableashutosh@gmail.com'

Co-Founder & Editor-In-Chief
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *