भारत सरकार ने हमसे माँगा यूजर्स का डेटा, हमनें मुहैया करवाया: Apple

एप्पल (Apple) ने सोमवार को अपनी इस वर्ष की ट्रांसपेरेंसी रिपोर्ट  सार्वजानिक रूप से पेश करते हुए, कई आंकड़ों को लोगों के समक्ष रखा। 

इन्हीं जानकारियों को साझा करते हुए Apple ने भारत संबंधी आंकडें भी पेश किये। इन आंकड़ों में बताया गया कि भारत सरकार ने जनवरी-जून 2018 के बीच Apple से 27 डिवाइसों और 18 अकाउंट की जानकारी प्रदान करने का अनुरोध किया था। इस अनुरोध के सन्दर्भ में कंपनी डेटा प्रदान भी किया, जिसमें अधिकार मामले iTunes गिफ्टकार्ड की धोखाधड़ी संबंधी जांच के रहे।

कंपनी ने अपनी इस ट्रांसपेरेंसी रिपोर्ट में बताया कि सरकार के अनुरोधों की कुल संख्या जाँच, अदालत के आदेश, वारंट या अन्य वैध कानूनी अनुरोध जैसे स्वरूपों में 34 रही। इसमें वित्तीय पहचानकर्ता और तीन आपातकालीन अनुरोध भी शामिल रहे।

इसके साथ ही कंपनी ने यह भी जाहिर किया कि Apple ने भारत सरकार की डिवाइस संबंधी अनुरोधों में से 63 प्रतिशत मामलों में जानकारी प्रदान की। वहीँ वित्तीय पहचानकर्ताओं से संबंधित 85 प्रतिशत मामलों में डेटा प्रदान किया गया।

इस पर Apple ने स्पष्टीकरण के लहजे में कहा,

“iTunes गिफ्टकार्ड धोखाधड़ी जांच के कारण वित्तीय पहचानकर्ता संबंधी मामलों की संख्या कहीं अधिक रही और हमें भी उचित जानकारी साझा करनी पड़ी।”

इस बीच वैश्विक रुझानों को देखते हुए Apple ने अपनी ट्रांसपेरेंसी रिपोर्ट वेबसाइट लॉन्च की है, इसके जरिये विभिन्न सरकारों से संबंधित के डेटा अनुरोधों को देखना लोगों के लिए काफ़ी आसान हो रहा है।

हम आपको बता दें कि वैश्विक स्तर पर, कंपनी को कुल 1,63,823 डिवाइसों से संबंधित डेटा के लिए सरकारों की तरफ से 32,342 अनुरोध प्राप्त हुए, जिनमें से 80 प्रतिशत अनुरोधों को कंपनी ने स्वीकृति देते हुए, संबंधित डेटा सरकारों को मुहैया करवाया। 

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *