Club Factory ने भारत में प्रसार के लिए हासिल किया $100 मिलियन का बड़ा निवेश

चीन आधारित ईकॉमर्स दिग्गज Club Factory भारतीय बाज़ार में भरी संभवनाओं से भलीभांति परिचित है और इसलिए कंपनी लगातार ही तेजी से अपने प्रसार की कोशिशें करती नज़र आती रहती है।

और अब अपनी इन्हीं कोशिशों की श्रृंखला में Club Factory ने अब Qiming Venture Partners, Bertelsmann, IDG Capital, और अन्य अमेरिकी और एशियाई Fortune 500 से करीब 100 मिलियन डॉलर का निवेश प्राप्त किया है।

आपको बता दें की कंपनी ने यह निवेश अपने सीरीज डी फंडिंग राउंड के तहत हासिल किया है। इस निवेश के बाद प्रेस को दिए गये एक बयान में कंपनी ने कहा

“यह निवेश भारतीय बाजार में हमें अपने ईकॉमर्स प्लेटफॉर्म का विस्तार करने को लेकर काफी मददगार साबित होगा, और हमें यह बताते हुए ख़ुशी हैं कि Club Factory भारतीय ई-कॉमर्स बाज़ार का एक महत्वपूर्ण केंद्र बनता जा रहा है।”

दरसल Club Factory भारत में Amazon और Flipkart के बाद तीसरा सबसे बड़ा ई-कॉमर्स शॉपिंग ऐप होने का दावा करती है। यह ईकॉमर्स कंपनी अपने भारतीय बाज़ार में लोकप्रियता का कारण अपनी शून्य-कमीशन रणनीति को मानती है, जिसके तहत कंपनी का दवा है कि विक्रेता उपभोक्ताओं को लागत लाभ सीधे स्थानांतरित कर पाते हैं।

साथ ही आपको यह भी बता दें कि Club Factory अपने भारतीय SME व्यवसाय में पिछले छह महीनों में 10 गुना से अधिक की वृद्धि हासिल करने का दावा भी करती है।

Club Factory के  संस्थापक और सीईओ विंसेंट लू ने कहा

“हमारी 0% कमीशन की रणनीति ने बाजार को और अधिक लोकतांत्रिक बना दिया है, जिससे किसी भी कानूनी रूप से योग्य भारतीय विक्रेता को मंच पर अपने उत्पाद बेचने की अनुमति मिलती है।”

“हमने भारत के ई-कॉमर्स उद्योग में ‘स्टोर-इन-प्लेटफॉर्म’ अवधारणा को मजबूत करने का बीड़ा उठाया है, जिससे हमारे ऐप के माध्यम से खरीदारों और विक्रेताओं के बीच सीधे संपर्क की अनुमति मिलती है। हमने भारतीय ई-कॉमर्स उद्योग की स्थिति को बदल दिया है, जो खरीदारों और विक्रेताओं की सूचना को एकाधिकार देता है, जिससे SMEs को अपने ग्राहकों और अपने व्यवसाय को बेहतर ढंग से चलाने की अनुमति मिलती है।”

इसके साथ ही Club Factory का कहना है कि वह इस नए फंडिंग दौर के बाद अपने ओपन प्लेटफॉर्म की रणनीति को और बढ़ाएगी, जिससे उसके उत्पादों के पोर्टफोलियो का विस्तार विभिन्न श्रेणियों में किया जा सके।

READ  InnoVen Capital ने किया बाइक रेंटल स्टार्टअप Bounce के साथ $3 मिलियन डॉलर का निवेश

दरसल कंपनी की भारत में मुख्य नीति टियर 2 और टियर 3 शहरों के ग्राहकों को रिझाते हुए अधिक से अधिक अधिक स्थानीय विक्रेताओं को आकर्षित करने की नज़र आती है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *