गूगल अपने डूडल के ज़रिए मना रहा है 'लेबर डे'

गूगल ने हमेशा की तरह आज 1 मई को अपने डूडल के ज़रिए ‘इंटरनेशनल लेबर डे’ मना रहा है।

दरसल इस दिन का चलन 19वीं शताब्दी में अमेरिका में ट्रेड यूनियन और श्रम आंदोलन के चलते हुआ और 1 मई 1886 को शिकागो में पुलिस के खिलाफ श्रम विरोध में बमबारी एक फ़ैसले के अंतर्गत इस दिन को अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस के रूप में मनाये जाने का निर्णय लिया गया।

कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, दरसल 4 मई 1886 को श्रमिकों की 8 घंटे की हड़ताल और मज़दूरों की हत्या के बाद Haymarket Square, शिकागो में एक शांतिपूर्ण रैली का आयोजन किया गया था। वहीँ विरोध के दौरान एक व्यक्ति ने पुलिस पर डायनामाइट बम फेंक दिया। जिसके बाद गनफायर शुरू हुआ और अनुमानित सात पुलिस अधिकारी तथा चार नागरिक मारे गए।

READ  Grofers ने अबू धाबी की Capital Investment LLC से जुटाया $ 10M फंड

इस बीच हम आपको बता दें कि भारत में यह दिन ‘अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस’ के नाम से जाना जाता है और भले ही उत्तर भारत में इस दिन को इनती तवज्जों न दी जाती हो, लेकिन पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में यह एक महत्वपूर्ण उत्सव के रूप में मनाया जाता है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram