July 1, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

Google Pay भारत में जल्द शुरू कर सकता है ‘छोटे व्यवसायों’ को लोन देने की सुविधा: रिपोर्ट

अमेरिका स्थित प्रौद्योगिकी Behemoth Google अपने प्लेटफ़ॉर्म Google Pay पर छोटे और मध्यम उद्यमों के लिए एक क्रेडिट सुविधा प्रदान करने जा रहा है। शीर्ष भारतीय उधरदताओं के साथ साझेदारी में, रोल आउट साल दर साल लाइव होगा और करीब 3 मिलियन से अधिक वेरिफाइड मर्चेंट अपने Google Pay ऐप पर तुरंत क्रेडिट प्राप्त करने में मदद करेंगे। अगर बैंक पार्टनर उन्हें क्रेडिट के लिहाज़ से योग्य मानते है तो ही ऐसा संभव हो पाएगा।

यह नई सुविधा मुख्य रूप से वर्तमान में चल रही सुविधा और आगामी पहलों के बीच होगी जिसे कोरोना महामारी के बीच भारत के तेज़ी से डिजिटलाइजेशन वाले SME सेगमेंट में हिस्सेदारी हासिल करने के लिए योजना बनाई गई है।

साल 2018 में लॉन्च किया गया इंस्टेंट कस्टमर लोन फीचर के समान ही क्रेडिट को भी प्री ऐप्रोवुड आधार पर मर्चेंट को दिया जाएगा। मुख्य रूप से अंडरराइटिंग और कलेक्शन का ऑनस पार्टनर ऋणदाताओं पर ही होगा।

Google pay के प्रोडक्ट मैनेजमेंट के सीनियर डायरेक्टर Ambarish Kenghe ने अपने बयान में कहा है कि इन अनिश्चित समयों में हम व्यापारियों और उपभोक्ताओं की मदद करने के लिए कई तरह की चीजें कर रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि इस समय में हम अपने साथी वित्तीय संस्थानों के साथ व्यापारियों के लिए ऋण की पेशकश को लागू करने के लिए भी काम कर रहे है। इसका सही लाभ Google Pay पर उठाया जा सकता है।

मुख्य रूप से Google Pay का उपभोक्ता ऋण उत्पाद एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, फेडरल बैंक, एक्सिस बैंक और कोटक महिंद्रा जैसे बैंको के साथ है।

यह कदम ऐसे समय में लिया गया है जब बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों ने सेवाओं की अधिकता की पेशकश करके भारत के आकर्षक कम लागत वाले SME क्षेत्र पर कब्ज़ा करने में काफी आक्रामक रुख़ अपनाया है।

Reliance इंडस्ट्रीज स्वामित्व वाली Jio प्लेटफ़ॉर्म में Facebook के निवेश के साथ ही प्रतिस्पर्धा काफी तेज़ हो गई है। इसकी लोकप्रिय मेसेजिंग सर्विस, WhatsApp, JioMart के माध्यम से वाणिज्य को सुविधाजनक बनाने और छोटे खुदरा विक्रेताओं के लिए एक इकोसिस्टम का निर्माण करने के लिए WhatsApp Pay को एकीकृत करने की कोशिश करेगी। Amazon Pay भी ऑफलाइन व्यापारियों को अपने प्लेटफ़ॉर्म पर लाने पर काफी जोर दे रहा है।

Paytm, PineLab, BharatPe और PhonePe जैसी कई अन्य भारतीय Fintech कंपनियां भी अन बैंक्ड और अनडिजिटलाइज्ड मर्चेंट को आकर्षित करने के लिए मूल्य वर्धित सेवाओं पर जोर दे रही है। जो मुख्य रूप से आने संबंधित प्लेटफ़ॉर्म पर अपने भौतिक व्यवसाय को ऑनलाइन लेना चाहते है उनके लिए भी यह काम कर रही है।

Kenghe ने कहा है कि चर्चा अभी भी शुरुआती चरण में है और हम औपचारिक लॉन्च के लिए एक समयरेखा तैयार कर रहे है। हालांकि इसे वर्ष के अंत तक फाइनल करना है। ऋण उत्पाद वित्तीय संस्थानों द्वारा पेश किया जाएगा और यह सुनिश्चित करने के लिए जोर दिया जाता है कि व्यापारी को ऋण प्रक्रिया का पूर्ण नियंत्रण और विजिबिलिटी है। उन्होंने कहा है कि यूनिफाइड आधारित पेमेंट इंटरफेस और UPI आधारित प्लेटफ़ॉर्म ने हाल ही में अपना ‘Nearby’ स्पॉट फीचर भी शुरू किया है जो छोटे व्यवसायों को ऐप इंटरफेस के माध्यम से डिजिटल स्टोरफ्रंट ऑनलाइन बनाने में सक्षम बनाता है। इसने Zomato, Grofers, MakeMyTrip, 5 Paisa ओर Dunzo जैसे बड़े व्यापारियों को स्ट्रीम पर आते देखा है। उनका कहा है कि अब हम सभी का जोर छोटे व्यापारियों को बोर्ड पर लाना है।

उन्होंने कहा कि देश भर में 60 मिलियन से अधिक SME और 30 मिलियन मर्चेंट और खुदरा विक्रेता है। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण स्थान है जहां बहुत सारे लेनदेन होते है। हम इन समय के दौरान व्यापारियों की मदद करने पर बहुत ध्यान केंद्रित कर रहे है। पहला टुकड़ा डिजिटल भुगतान सुविधाओं के साथ व्यापारियों को सक्षम कर रहा है।

इसके अतिरिक्त Google Pay अपने प्लेटफ़ॉर्म पर बड़े व्यापारियों को आकर्षित करने की भी कोशिश कर रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, Google Pay वर्तमान में भारत में UPI लेनदेन के मामले में सबसे आगे है। इसके पास मई के महीने तक करीब 1.2 बिलियन लेनदेन और कुल 500 मिलियन से अधिक हो चुके है। यह National Payments corporation of India के द्वारा संचालित चैनल पर उपलब्ध है।

Abhinav Narayan is presently a student of Law from Amity Law School, Noida; and is a vastly experienced candidate in the field of MUNs and youth parliaments. The core branches of Abhinav's expertise lies in Hindi writing, he writes Hindi poems and is a renowned orator. He is currently the President of the Hindi Literary Club, Amity University.
  • facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *