August 7, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

एग्रीटेक स्टार्टअप Gramophone ने Info Edge के नेतृत्व में जुटाए 24 करोड़ रुपये

  • by Yogesh
  • August 29, 2019

इंदौर स्थित एग्रीटेक स्टार्टअप ग्रामोफोन (Gramophone) ने मंगलवार को घोषणा की है कि इसने इन्फो एज (Info Edge), रवीन शास्त्री (Myntra.com के सह-संस्थापक) (Raveen Sastry (Co-founder of Myntra.com)), Asha Impact और Better Capital से सीरीज़ ए फंडिंग राउंड में 24 करोड़ रुपये ($ 3.5 मिलियन) जुटाए हैं।

सूत्रों के अनुसार इंफो एज (Info Edge), ग्रामोफोन (Gramophone) में एक मौजूदा निवेशक है, जिसने इस साल अप्रैल में 14 करोड़ रुपये और मार्च 2018 में प्री-सीरीज A फाइनेंसिंग राउंड में 6.4 करोड़ रुपये ($ 1 मिलियन) का निवेश किया था।

तौसीफ खान, वहीं इस फंडिंग को लेकर ग्रामोफोन (Gramophone) के Co-Founder और CEO तौसीफ खान ने कहा कि,

“ग्रामोफोन (Gramophone) खेती का भविष्य बनाने के मिशन पर है जो ज्ञान का लोकतंत्रीकरण (Democratising Knowledge), लेनदेन में पारदर्शिता का निर्माण, और किसानों के व्यापार के लिए एक जुड़ा हुआ पारिस्थितिकी तंत्र बनाता है। हम यह देखने के लिए उत्साहित हैं कि किसान अपनी आय को बढ़ाने के लिए नए अवसरों को कैसे अपना रहे हैं। यह निवेश हमें भौगोलिक रूप से उत्पाद, डेटा विज्ञान (Data Science ) और पैमाने के संचालन पर आक्रामक रूप से निवेश करने में सक्षम करेगा।,”

आईआईटी स्नातक (IIT Graduat) तौसीफ अहमद खान, निशांत वत्स महात्रे, हर्षित गुप्ता और आशीष राजन सिंह द्वारा 2016 में स्थापित, ग्रामोफोन (Gramophone) एक स्मार्टफ़ोन ऐप (Smartphone App) और एक कॉल सेंटर के माध्यम से किसानों को गुणवत्ता वाले कृषि आदानों के वितरण के साथ युग्मित क्रियाशील एग्रोनॉमिक अंतर्दृष्टि (Actionable Agronomic Insights) प्रदान करता है।

कृषि अर्थव्यवस्था के लिए ग्रामोफोन (Gramophone) के डेटा संचालित दृष्टिकोण ने उन्हें किसानों के पेन पाइंट्स की पहचान करने और उनका पता लगाने और व्यक्तिगत समाधान (Personalized Solutions) प्रदान करने में सक्षम बनाया है। स्टार्टअप के लास्ट माइल  डिलिवरी मॉडल (Last Mile Delivery Model) ने उन्हें मध्य भारत के दूरस्थ गांवों में 2.5 लाख से अधिक किसानों की सेवा में मदद की है।

वहीं इस निवेश पर चर्चा करते हुए इन्फो एज (Info Edge) के Kitty Agarwal ने कहा कि,

“कृषि भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है और हमारे विचार में, किसानों के पेन पाइंट्स को हल करना, इनपुट खरीद से लेकर फाइनेंसिंग, आउटपुट मार्केट लिंकेज (Output Market Linkages) तक एक बहुत बड़ा अवसर है। कंपनी ने जबरदस्त विकास दिखाया है, हमने पहली बार एक साल पहले ग्रामोफोन (Gramophone) में निवेश किया था।,”

वहीं Asha Impact  की Executive Director कार्तिक देसाई, ने कहा कि,

“हम ग्रामोफोन (Gramophone) टीम की ग्राहकों की ज़रूरतों की सहज समझ, और अत्यधिक प्रभावी और स्केलेबल प्लेटफ़ॉर्म बनाने की उनकी क्षमता से प्रभावित थे। हम उनके साथ साझेदारी करने के लिए उत्साहित हैं।,”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *