कंपनियों को सॉफ्ट स्किल्स के अनुसार कैंडीडेट्स हायर करने में मदद कर रहा है nTalents

  • by Yogesh
  • June 17, 2019

एचआर इंडस्ट्री (Hr industry) में सॉफ्ट स्किल्स (soft skills) सबसे महत्वपूर्ण ट्रेंड बनने जा रहा है। भारत में लगभग 95 प्रतिशत टैलेंट प्रोफेशनल्स ने सॉफ्ट स्किल्स (soft skills) को प्राथमिकता दी है।

जिन देशों में सॉफ्ट स्किल्स (soft skills) की प्रवृत्ति को काम पर रखने के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है उस लिस्ट में भारत तीसरे नंबर पर है। इसी को ध्यान में रखते हुए कॉलेज के तीन दोस्तों मयंक शर्मा, दीपिका अनु, और वरुण नरूला ने nTalents की स्थापना की थी। nTalents कंपनियों को उनकी सॉफ्ट स्किल्स (soft skills) के आधार पर सही कैंडिडेट्स को हायर करने में मदद करती है। सॉफ्ट स्किल्स (soft skills) का मतलब कैंडिडेट्स के मनोवैज्ञानिक (Psychological) और संज्ञानात्मक प्रोफाइल (cognitive profiles) से है।

nTalents के सह-संस्थापक ने yourstory से कहा कि कहा कि,

“स्टार्टअप का टैलेंट मैनेजमेंट टूल (Talent Management Tool) कैंडिडेट्स को एक खास एनवायरनमेंट में जॉब-स्पेसिफिक सिनारियो (Job-specific cinerario) को नेविगेट करने में मदद करता है और यह बताता है कि वे उन परिस्थितियों में क्या करेंगे।,”

वहीं nTalents की सह-संस्थापक दीपिका ने yourstory  से कहा कि,

“हम कॉम्प्रीहेंसिव बीपीसी (Comprehensive BPC) प्रोफाइलर (Profiler), बीपीसी प्रोफाइलर प्लेटफॉर्म (BPC Profiler Platform), कॉग्निटिव एंड साइकोमेट्रिक प्रोफाइलर (Cognitive and Symmetric Profiler) और HD रिक्वायरमेंट सर्विस (HD Requirements Service) जैसे टैलेंट असेसमेंट्स (Talent Assinations) की एक सीरीज ऑफर करते हैं। इसमें कैंडिडेट्स 45-50 मिनट का एक ऑनलाइन सेशन अटेंप्ट करता है जिसके आधार पर कैंडिडेट्स की कॉम्प्रीहेंसिव बीपीसी (Comprehensive BPC) तैयार की जाती है।”

वर्तमान में, nTalents एमक्योर फार्मा (Emcure Pharma), ब्रिंटन फार्मा (Brinton Pharma), क्ले प्रीस्कूल्स (KLAY Preschools), रेलिगेयर इंश्योरेंस (Religare Insurance), पेप्स इंडस्ट्रीज (Peps Industries) आदि जैसे इंटरप्राइजेज से जुड़ा हुआ है। इसके अलावा यह कई इंडस्ट्रीज में और HDFC, Cafe Coffee Day, Eurokids, Oyo Rooms, ACT Fibernet, Chai Point और Freshworks जैसी कंपनियों में विभिन्न नौकरी भूमिकाओं के लिए पायलट चला रहा है।

READ  LetsVenture और अन्य निवेशकों से Nanoclean Global को मिला 4.2 करोड़ का निवेश

बता दें कि nTalents ने अपने फाइनल प्रोडक्ट के लॉन्च के बाद से हर तिमाही में 44 प्रतिशत की औसत राजस्व वृद्धि दर्ज की है। वित्त वर्ष 2019 में, कंपनी ने 50 लाख रुपये का राजस्व हासिल किया और वित्त वर्ष 2020 के लिए 80-90 लाख रुपये का लक्ष्य रखा है। इसके अलावा, nTalents का लक्ष्य अपनी प्रोडक्ट डेवलपमेंट (Product development) और बिजनेस टीमों (Business teams) को मजबूत करने के लिए आने वाली तिमाही में 500,000 डॉलर जुटाने का गोल भी है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *