5जी परीक्षण में स्वतंत्र रूप से निर्णय करे भारत: Huawei

  • by Yogesh
  • June 24, 2019

चीनी कंपनी हुवावेई (Huawei) ने उसे 5जी परीक्षण की अनुमति देने के मामले में भारत से सही जानकारी के साथ स्वतंत्र निर्णय लेने को कहा है।

अमेरिका में लगे प्रतिबंध के कारण इस समय हुवावेई (Huawei) काफी बड़े दबाव का सामना कर रही है। दुनिया की सबसे बड़ी दूरसंचार उपकरण (telecom equipment) और दूसरे नंबर की स्मार्टफोन कंपनी (smartphone producer) पर अमेरिका ने सुरक्षा चिंताओं की वजह से प्रतिबंध लगा दिया है। यही नहीं अमेरिका अन्य देशों पर भी चीनी दूरसंचार कंपनी (Chinese telecom firm) के परिचालन पर अंकुश के लिए दबाव डाल रहा है।

हालांकि, भारत ने अभी इस बारे में कोई निर्णय नहीं लिया है कि वह हुवावेई (Huawei) पर प्रतिबंध लगाएगा या आगामी 5जी परीक्षणों में भाग लेने की अनुमति देगा।

READ  जल्द ही 9 भारतीय भाषाओँ में उपलब्ध होंगी "वेबसाइट डोमेन"

वहीं कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा कि,

‘‘भारत सरकार या अन्य देश को अपने मानकों, परीक्षण प्रणाली और नीतियों के जरिये अपने नेटवर्क (networks) और डेटा (data) की सुरक्षा के लिए स्वतंत्र तरीके से राय बनानी चाहिए। प्रमाणों और तथ्यों के आधार पर साइबर सुरक्षा जोखिमों (cybersecurity risks) से निपटना चाहिए। डर से किसी को प्रतिबंधित करने के बजाय जांच और निगरानी बढ़ाई जानी चाहिए।’’

इससे पहले दूरसंचार मंत्री (Telecom Minister) रवि शंकर प्रसाद ने कहा था कि आगामी 5जी परीक्षणों में हुवावेई (Huawei) को भागीदारी की अनुमति देने को लेकर भारत के अपने मुद्दे हैं।,

‘‘हम इस पर पुख्ता तरीके से विचार करेंगे। यह सिर्फ प्रौद्योगिकी का मामला नहीं है। जहां तक 5जी में उनकी भागीदारी का सवाल है, 5जी में भागीदारी की शर्त परीक्षण शुरू होने से नहीं जुड़ी है। किसी कंपनी को इसमें भागीदारी की अनुमति दी जाए या नहीं, यह सुरक्षा मुद्दों के साथ जटिल सवाल है।”

वहीं चीनी विदेश मंत्री ने पिछले सप्ताह दूरसंचार मंत्री के बयान पर टिप्पणी में कहा कि,

“भारत को अमेरिकी प्रतिबंध से निर्देशित होने के बजाय भारत को स्वतंत्र रूप से निर्णय लेना चाहिये। भारत को चीनी कंपनियों को निष्पक्ष (unbiased) और भेदभाव रहित (Non-discriminatory) परिवेश उपलब्ध कराना चाहिये। हुवावेई (Huawei) ने कहा कि उसे अपने करोबार में दो दशक के दौरान भारत से पूरा समर्थन मिला है।”

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *