2023 तक भारत में होंगें करीब 50 करोड़ ऑनलाइन वीडियो सब्सक्राइबर्स: KPMG India

  • by Ashutosh Kumar Singh
  • September 10, 2019

कम कीमतों में भी अच्छे फीचर्स के साथ स्मार्टफोनों की उपलब्धता और Jio के कारण सस्ते हुए इंटरनेट दामों के कारण आज लगभग अधिकांश भारत के पास इंटरनेट की पहुँच है

और इसी के चलते इंटरनेट के बाज़ार श्रेणियों में भारतीय ग्राहकों को अधिक तवज्जों दी जाने लगी है। और इसी का एक उदाहरण है ऑनलाइन विडियो बाज़ार, या ओवर-द-टॉप (ओटीटी) श्रेणी।

जी हाँ! दरसल बढ़ते ऑनलाइन विडियो चैनलों और Netflix, Amazon Prime की तर्ज पर पारंपरिक टीवी चैनलों द्वारा भी लांच किये गये तमाम ऑनलाइन वीडियो प्लेटफ़ॉर्म के चलते देश में अधिकांश लोगों को इसकी आदत सी हो गई है। और Hotstar, Netflix, Amazon Prime, Zee5, Alt Balaji, Voot, TVFPlay और MX Player जैसे ऐपों ने अचानक ही हम सभी के मोबाइलों में कब अपनी जगह सुनिश्चित कर ली, इसका अंदाज़ा हमें खुद नहीं लग सका।    

दरसल Netflix और Amazon Prime जैसे बड़े प्रतिद्वंदियों ने भी अब भारतीय बाज़ार और उपभोगताओं को ध्यान में रखते हुए वेब सीरीज इत्यादि को पेश करने की शुरुआत की है। जिसका इन प्लेटफ़ॉर्म को बहुत लाभ भी मिल रहा है। इसके साथ ही YouTube जैसे प्लेटफ़ॉर्म में मौजूद फ़्री में उपलब्ध कई शानदार विडियो सामग्रियों ने भी इस क्षेत्र में ग्राहकों को आकर्षित करने में बड़ी भूमिका निभाई है

और अब केपीएमजी इंडिया (KPMG India) द्वारा प्रकाशित नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि भारत में वर्ष 2023 तक लगभग 500 मिलियन (50 करोड़) ऑनलाइन वीडियो ग्राहक होंगे। इसके साथ ही देश चीन के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ऑनलाइन वीडियो बाजार बन जाएगा।

दरसल इसमें हैरानी जैसी कोई बात नहीं है।आपको याद है जब टीवी पर केबल चैनलों का चलन बढ़ा था और लगभग हर घर में सास-बहु के सीरियल इत्यादि अपनी जगह बनाते हुए तेजी से पॉपुलर होने लगे थे। लेकिन केबल के चार्ज और टीवी और बिजली के बिल और इसकी उपलब्धता के चलते धीरे धीरे लोगों ने इससे दूरियाँ बनाना शुरू कर दिया। दरसल ऐसा करने के पीछे एक वजह लोगों के पास जो थी वह थी स्मार्टफोन का कम कीमतों में भी उपलब्ध होना।

जी हाँ! स्मार्टफोन और इंटरनेट के खेल ने मानों समाज में कई ऐसे बड़े बदलाव लाए, जिनका हमें एहसास भी नहीं हुआ और वह पूरे देश की मानों आदत से बन गये। 

वर्तमान में, भारत के ऑनलाइन वीडियो बाजार के पास लगभग 30 करोड़ उपयोगकर्ता-आधार हैं। केपीएमजी इंडिया (KPMG India) की इस रिपोर्ट के मुताबिक लगभग 80% ओटीटी ग्राहकों का मानना ​​है कि उनकी मनोरंजन संबंधी उनकी ज़रूरतें ऑनलाइन सामग्री के माध्यम से पूरी हो जाती हैं और वहीँ 40% के करीब दर्शक टेलीविजन जैसे पारंपरिक सामग्री देखने के माध्यम को छोड़ने पर विचार कर रहे हैं।

भारत में औसतन, एक उपयोगकर्ता 40 मिनट की औसत अवधि के साथ ओटीटी प्लेटफॉर्म पर प्रति दिन 70 मिनट खर्च कर रहा है जो स्पष्ट रूप से उपभोग विकास को दर्शाता है। और साथ ही यह भी दर्शाता है कि कैसे आगामी वर्षों में ऑनलाइन वीडियो बाज़ार संभावित रूप से पारंपरिक वितरण को बाधित कर सकता है।

हर साल, लगभग 4 करोड़ नए लोग इंटरनेट से जुड़ रहे हैं। ऐसे में यह भी दिलचस्प होगा की ये सभी प्रतिद्वंदी आगामी और मौजूदा उपभोगताओं को आकर्षित करने के लिए किस प्रकार की योजनायें बनाते हैं? 

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *