2019 में भारतीय स्टार्टअप तंत्र में 7 Unicorns सहित जुडें 1,300 नए स्टार्टअप्स

भारत के एक उद्योग संगठन ‘नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज कंपनीज’ (Nasscom) की एक नई रिपोर्ट के अनुसार, भारत में इस साल स्टार्टअप की संख्या में काफी इजाफ़ा हुआ है।  

दरसल Nasscom के अनुसार भारत ने इस साल चीन और अमेरिका के बाद दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम बनते हुए 7 यूनिकॉर्न सहित 1,300 से अधिक स्टार्टअप को शामिल किया है।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019 में स्टार्टअप्स को मिलने वाला कुल फंड $ 4.4 बिलियन था।

साथ ही रिपोर्ट में यह कहा गया है कि 2019 में स्टार्ट-अप इकोसिस्टम में कुल निवेश में 16 फीसदी की सालाना वृद्धि हुई है। और साथ ही इन स्टार्टअप्स का संचयी मूल्यांकन अब $55 बिलियन को पार कर गया है।

“इंडियाज टेक स्टार्ट-अप इकोसिस्टम” शीर्षक की रिपोर्ट के अनुसार, 2019 में 7 नए यूनिकॉर्न को मिलाकर अब भारत में यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स की कुल संख्या 24 हो गई है।

इन 7 नए यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स में पुणे स्थित सॉफ्टवेयर कंपनी Icertis, बेंगलुरु स्थित Ola Electric, दिल्ली स्थित लॉजिस्टिक कोरियर सर्विस प्रोवाइडर Delhivery, गुरुग्राम स्थित कार्गो सेवा Rivigo, पुणे स्थित डेटा सुरक्षा और प्रबंधन-सेवा Druva, मुंबई स्थित काल्पनिक खेल मंच Dream11 और बेंगलुरु स्थित ऑनलाइन किराने की दुकान BigBasket शामिल हैं।

READ  मात्र 18% स्टार्टअप ने माना कि "स्टार्टअप इंडिया" से मिला कुछ लाभ

इसके साथ ही इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारतीय स्टार्टअप तंत्र के 2025 तक चार गुना से अधिक बढ़ने की क्षमता है। Nasscom के अध्यक्ष देबजानी घोष ने कहा,

“भारतीय स्टार्टअप तंत्र की इस उल्लेखनीय वृद्धि को बढ़ावा देने वाले कई कारक हैं जो भारतीय स्टार्टअप्स को मजबूत कर रहे हैं और निरंतर नवाचार के लिए अनुकूल माहौल बना रहे हैं।”

“इस रिपोर्ट में जो बात सबसे ज्यादा स्पष्ट है वह यह है कि स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने के लिए तंत्र के विभिन्न तत्व एक साथ कैसे आ रहे हैं जैसे सरकारी समर्थन, निवेशक परिदृश्य का विकास, कॉर्पोरेट्स की भागीदारी में वृद्धि, विकास राष्ट्रीय डिजिटल बुनियादी ढांचे, अविश्वसनीय वैश्विक प्रदर्शन के लिए आदि”

इसके साथ ही इस रिपोर्ट से पता चला है कि 2014-2019 के दौरान अनुमानित 8,900 से 9,300 स्टार्टअप बने और उनका कुल आधार साल दर साल 12-15 प्रतिशत बढ़ रहा था।

READ  रोबोटिक्स टेक स्टार्टअप CynLr ने Speciale Invest और Arali Ventures के नेतृत्व में जुटाए 5.5 करोड़ रुपये

वहीँ बेंगलुरु, दिल्ली-एनसीआर और मुंबई भारत में 55-58 प्रतिशत स्टार्टअप के लिए घर बना, जबकि Nasscom की इस रिपोर्ट के मुताबिक जयपुर, अहमदाबाद, कोलकाता और कोच्चि देश में उभरते स्टार्टअप हब।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *