July 7, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

राष्ट्रपति कोविन्द ने कहा, 'मशीन लर्निंग' और 'आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस' संबंधी एल्गोरिदम के लिए सर्वाधिक उपयुक्त भाषा है "संस्कृत"

श्री लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय संस्कृत विद्यापीठ के 17वें दीक्षांत समारोह में लोगों को संबोधित करते ही भारत के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने कहा कि आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस (AI) संबंधी एल्गोरिदम लिखने और इस तकनीक के विकास के लिए संस्कृत की प्राचीन भाषा सबसे उपयुक्त भाषा है।

दरसल, इस कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान राष्ट्रपति कोविंद शिक्षाविदों को संबोधित करते हुए संस्कृत भाषा की उपयोगिता के बारे में बात कर रहे थे।

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, कोविंद ने कहा:

” संस्कृत अध्यात्म, दर्शन या साहित्य तक ही सीमित नहीं है और विशेषज्ञों का मानना है कि आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस (AI) संबंधी एल्गोरिदम लिखने और मशीन लर्निंग जैसी तकनीकों के लिए यह भाषा सबसे उपयुक्त है “

कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए, राष्ट्रपति के शब्दों को प्रेरित करने के लिए काफ़ी अच्छा माना जा सकता है और हालाँकि इसको मशीन लर्निंग के के लिए कौन सी भाषा ‘सर्वश्रेष्ठ’ होगी, ऐसे किसी विवाद से जोड़ कर देखा नहीं जाना चाहिए।

हालांकि यह भी सच है कि कई विद्वान मानतें ​​है कि संस्कृत मशीन लर्निंग के लिए एक अच्छा विकल्प है, पर फ़िलहाल इस सोच का आधार प्रमाणित करने के लिए कोई सबूत नहीं है कि यह अंग्रेजी, चीनी, रूसी या अन्य भाषाओं की तुलना में एल्गोरिदम (या अन्य कोड) लिखने के लिए कैसे बेहतर है।

खैर! इस बीच हम यह जरुर जानना चाहेंगें कि इस पर आप क्या सोचते हैं, आप अपनी राय हमारे साथ नीचे कमेंट बॉक्स में जरुर साझा करें।

amicableashutosh@gmail.com'

Co-Founder & Editor-In-Chief
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram