June 3, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
softbank-investment-in-reliance-jio

Jio Platforms को अब KKR से मिला ₹11,367 करोड़ का निवेश; खरीदी 2.32% हिस्सेदारी

निजी इक्विटी फर्म KKR 2.32 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए Jio Platforms में पैसा लगाने के लिए तैयार है। कम समय के अंदर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटड (RIL) के कारोबार में यह पांचवा निवेश होगा। इससे पहले Facebook, Private Equity Funds, Silver Lake, Vista Equity Partners और General Atlantic पहले ही निवेश कर चुके है। विश्लेषकों का कहना है कि आने वाले समय में इस तरह के और भी निवेश संभव हो पाएगा।

Jio Platforms पर इस लेन-देन का इक्विटी मूल्य 4.91 लाख करोड़ रुपए है तथा उद्यम मूल्य करीब 5.16 लाख करोड़ रुपए है। RIL ने शुक्रवार को एक विज्ञप्ति में कहा कि यह KKR का एशिया में सबसे बड़ा निवेश है और Jio Platforms में पूर्ण रूप से 2.32 प्रतिशत हिस्सेदारी में तब्दील हो जाएगा।

इकोनॉमिक्स टाइम्स के अनुसार उन्होंने इस निवेश की संभावनाओं के बारे में पहले ही अपने संस्करण में बताया था।

नवीनतम सौदे के साथ, JIO को करीब 7,562 करोड़ रुपए इस पांच निवेशों से संयुक्त रूप से मिलेंगे। RIL इकाई के रिलायंस JIO इन्फोकॉम के तहत ज्यादातर टेलीकॉम व्यवसाय शामिल है जो 38 मिलियन ग्राहकों के साथ देश म सबसे बड़ी कंपनी है। Jio Cinema, Jio Saavn और Haaptik Jio Platforms आदि अन्य डिजिटल निवेशों को भी इसके अंतर्गत रखे गए है।

कंपनी ने यह भी साफ किया कि इस लेनदेन के नियम और अन्य प्राथमिक अनुमोदन इसके अधीन ही है। इससे पहले 18 मई को General Atlantic ने कहा कि वह Jio Platforms में 1.34 प्रतिशत की हिस्सेदारी करीब 6,698.38 करोड़ में खरीदेगी, जबकि 8 मई को Vista Equity Partners ने कहा कि वह 2.32 प्रतिशत की हिस्सेदारी को 11,367 करोड़ रुपए में खरीदेगा। इससे पहले 22 अप्रैल को अमेरिकी निजी इक्विटी फर्म Silver Lake ने कहा था कि वह 1.15 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ Jio प्लैटफॉर्म्स पर करीब 5,655.75 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। Facebook ने भी कहा कि वह क़रीब 9.99 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ $5.7 बिलियन का निवेश करेगी।

KKR अपने एशिया निजी इक्विटी और विकास प्रौद्योगिकी कोष से निवेश कर रहा है। KKR के सह संस्थापक Henry Kravis ने अपने बयान में कहा कि कुछ कंपनियों के पास देश के डिजिटल तंत्र को बदलने की क्षमता है, जो भारत में Jio प्लेटफॉर्म्स और संभावित रूप से दुनिया में है।

उन्होंने यह भी कहा कि हम Jio Platforms की प्रभावशाली गति, विश्व स्तरीय प्रयोग और मजबूत नेतृत्व टीम के पीछे निवेश कर रहे है। भारत और एशिया महाद्वीप में अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों के समर्थन के लिए KKR की प्रतिबद्धता के मजबूत संकेतक के रूप में इस ऐतिहासिक निवेश को देखते है।

1976 में स्थापित KKR’s के निवेशों में निजी इक्विटी और प्रौद्योगिकी विकास निधि के माध्यम से BMC Software, ByteDance और GoJek शामिल है। स्थापना के बाद से ही फर्म ने तकनीकी कंपनियों में $30 बिलियन (कुल उद्यम मूल्य) से अधिक का निवेश किया है। इस फर्म के प्रौद्योगिकी पोर्टफोलियो में प्रौद्योगिकी, मीडिया और दूरसंचार क्षेत्रों में 20 से अधिक कंपनियां शामिल है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने अपने बयान में कहा कि KKR भारत में एक प्रमुख डिजिटल सोसाइटी के निर्माण में हमारे महत्वाकांक्षी लक्ष्य को साझा करता है। KKR के पास उद्योगों की अग्रणी फ्रेंचाइजी में मूल्यवान भागीदार होने के लिए एक बेहतर और प्रमाणित रिकॉर्ड है। यह भारत के लिए कई वर्षों से प्रतिबद्ध भी है। उन्होंने यह भी बताया कि हम Jio को आगे बढ़ाने के लिए KKR के वैश्विक मंच, उद्योग की समझ और परिचालन विशेषज्ञता का लाभ उठाने के लिए तत्पर है।

Abhinav Narayan is presently a student of Law from Amity Law School, Noida; and is a vastly experienced candidate in the field of MUNs and youth parliaments. The core branches of Abhinav's expertise lies in Hindi writing, he writes Hindi poems and is a renowned orator. He is currently the President of the Hindi Literary Club, Amity University.
  • facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *