August 8, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

मद्रास हाईकोर्ट ने तमिलनाडू में तत्काल प्रभाव से किया TikTok को बैन

थोड़ा हटके तरीकों का इस्तेमाल कर कमाई गई लोकप्रियता कई बार लंबें समय के लिहाज़ से परेशानी का सबब बन जाती है। और शायद अब ऐसा ही कुछ नज़र आ रहा है TikTok के साथ भी। 

दरसल जैसा की हमनें आपको पहले ही बताया था कि तमिलनाडु सरकार ने इस ऐप को बैन करने की मांग की थी।इस लिप-सिंक ऐप को लेकर तमिलनाडु विधानसभा में चर्चा भी हुई थी, जिसमें नागापट्टिनम के विधायक थामिमुन अंसारी ने सरकार से इस ऐप पर प्रतिबंध लगाने का अनुरोध किया था।

विधायक थामिमुन अंसारी के अपना तर्क देते हुए कहा था,

“यह ऐप कानून और व्यवस्था को लेकर राज्य व् समाज में समस्याएं पैदा कर सकती है। इस पर कई अश्लील गतिविधियां होती हैं और इसलिए तमिलनाडु में इस ऐप पर प्रतिबंध लगाना उचित होगा।” 

कई स्कूल और कॉलेज के छात्र इसका उपयोग कर रहे हैं। जिसके चलते वे और उनके परिवार इससे प्रभावित हो रहे हैं, यह उन्हें अलग कर रहा है।”

दरसल ByteDance द्वारा निर्मित TikTok वर्तमान समय में 500 मिलियन उपयोगकर्ता आधार होने का दावा करता है। लेकिन अब तमिलनाडू सरकार ने अपने विधायक की बात को समर्थन देते हुए, प्रदेश और देशभर में इस ऐप को बैन करने के लिए केंद्र सरकार से अनुरोध किया है।

इस बीच भले ही केंद्र सरकार द्वारा इस विषय में कोई भी फ़ैसला न आया हो, लेकिन इसपर मद्रास हाईकोर्ट ने अपना फ़ैसला सुनते हुए तमिलनाडू में TikTok ऐप पर बैन लगा दिया है।

इस बीच हाईकोर्ट ने मीडिया चैनलों और इत्यादि को भी इससे संबंधित किसी भी तरह का प्रचार प्रसार करने को मना किया है। लेकिन मात्र प्रदेश भर में किसी ऐप पर प्रतिबन्ध लगाना और उसका अनुपालन करवाना किसी भी एजेंसी के लिए आसान कार्य नहीं होता है।

खैर! इस बीच देखना यह है कि TikTok इस विषय को कैसे लेता है? और तमिलनाडू जैसे प्रदेश में लगे इस प्रतिबन्ध को हटाने के लिए कंपनी क्या प्रदेश सरकार से बात करेगी या फ़िर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाती है।

Founder & Editor-In-Chief | Founded in 2017, TechSamvad is the only Media Platform reporting in Technology, Startups, and Business domain in Hindi.
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *