MakeMyTrip ने अपनी मूल कंपनी से जुटाया 34.6 करोड़ रुपये का फंड

  • by Yogesh
  • August 9, 2019

गुरुग्राम स्थित स्टार्टअप MakeMyTrip को अपनी मॉरीशस स्थित होल्डिंग इकाई (holding entity) से 34.68 करोड़ रुपये अतिरिक्त धन प्राप्त हुआ है।  नैस्डैक लिस्टेड कंपनी (Nasdaq-listed company) ने अपनी होल्डिंग कंपनी को 690 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 4,95,500 इक्विटी शेयर जारी किए हैं।

इस साल की शुरुआत में अप्रैल में ट्रैवल बुकिंग कंपनी MakeMyTrip को अपनी मूल कंपनी से 100 करोड़ रुपये मिले थे। तथा इसी महीने में कंपनी ने ने मुंबई स्थित Quest2Travel India Private Limited (Q2T) में बहुसंख्यक हिस्सेदारी हासिल की है। ताकि कॉर्पोरेट ट्रैवल स्पेस (corporate travel space) में अपनी स्थिति को मजबूत किया जा सके।

वहीं Q2T में निवेश पर टिप्पणी करते हुए मेकमाईट्रिप लिमिटेड (MakeMyTrip Limited) के संस्थापक और सीईओ दीप कालरा ने कहा कि,

“हमने ऐतिहासिक रूप से खुदरा ग्राहकों के लिए यात्रा समाधान प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित किया है, और इस निवेश के साथ, हम कॉर्पोरेट ग्राहकों (corporate customer) के लिए भी यात्रा समाधान प्रदान करने में निर्णायक भूमिका निभा रहे हैं।”

गौरतलब है कि MakeMyTrip ने इस वर्ष की पहली तिमाही में $ 1.4 बिलियन से अधिक की सकल बुकिंग दर्ज की है, वहीं पिछले महीने, कंपनी ने ट्रैवल बुकिंग (travel booking) के लिए क्रेडिट सेवाएं प्रदान करने के लिए मुंबई स्थित फिनटेक कंपनी ePayLater के साथ भी साझेदारी की है। इस साझेदारी के हिस्से के रूप में, ePayLater की, बुक नाउ पे लेटर सेवा (Book Now Pay Later) मेकमायट्रिप (MakeMyTrip)  पर फ्लाइट, बस और ट्रेन टिकट खरीदने वाले ग्राहकों को उपलब्ध कराई जाएगी। यह ग्राहकों को टिकट खरीद की तारीख से 14 दिनों की अवधि के लिए ब्याज मुक्त ऋण का लाभ उठाते हुए भुगतान किए बिना यात्रा बुक करने की अनुमति देगा।

READ  OYO ने होटलों को दी धमकी, "अगर किया बुकिंग का बहिष्कार तो कंपनी करेगी क़ानूनी कार्यवाई"

अपने स्वयं के मंच को संचालित करने के अलावा  मेकमायट्रिप (MakeMyTrip) गोइबिबो (Goibibo) और रेडबस ( redBus) जैसे ब्रांडों का भी संचालन कर रही है। इन प्लेटफार्मों के माध्यम से, एमएमटी (MMT) उपभोक्ताओं को भारत के साथ-साथ विदेशों में भी हवाई, बस, ट्रेन टिकट, होटल और वैकल्पिक आवास बुकिंग बुक करने की अनुमति देता है।

कंपनी के अनुसार यह भारत में 61,500 से अधिक घरेलू आवास संपत्तियों और भारत के बाहर 500,000 से अधिक संपत्तियों तक पहुंच प्रदान करता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *