Milkbasket ने Unilever Ventures के नेतृत्व में जुटाई $ 10.5 M फंडिंग

  • by Yogesh
  • August 10, 2019

सचिन बंसल के परिवार कार्यालय BACQ से 20 करोड़ रुपये जुटाने के बाद, मिल्कबास्केट (Milkbasket) ने अब यूनिलीवर वेंचर्स ( Unilever Ventures) के नेतृत्व में $ 10.5 मिलियन की फंडिंग जुटाया है।

बता दें कि मिल्कबास्केट (Milkbasket) के इस फंडिंग राउंड में मेफील्ड इंडिया (Mayfield India), कलारी कैपिटल (Kalaari Capital), ब्लम वेंचर्स ( Blume Ventures) और कुछ भारतीय पारिवारिक कार्यालयों ने भी हिस्सा लिया था।

इस फंडिंग के बारके में जानकारी देते हुए मिल्कबास्केट (Milkbasket)  के सह-संस्थापक और सीईओ अनंत गोयल ने बताया कि,

“दुनिया की पहली दैनिक माइक्रो डिलीवरी आपूर्ति श्रृंखला (micro delivery supply chain) बनाकर ऑनलाइन ग्रोसरी मॉडल के कोड को क्रैक करने के बाद, मिल्कबास्केट (Milkbasket) को आज 100,000 से अधिक घरों में सेवा देने पर गर्व है। यह फंडिंग अब तक का हमारा सबसे बड़ा फंड है, यह फंडिंग हमारे मजबूत निष्पादन के लिए एक वसीयतनामा है, टीम और मिल्कबास्केट (Milkbasket) के विकास में हमारे निवेशकों के भरोसे पर कायम है। ”

वहीं मिल्कबास्केट (Milkbasket) टीम ने दावा किया है कि वर्तमान में इसका 70 प्रतिशत से अधिक राजस्व गैर-दूध किराना उत्पादों से आता है। टीम ने एक सकारात्मक इकाई अर्थशास्त्र होने का भी दावा करती है। यह वर्तमान में भारत के चार शहरों में मौजूद है, और महीने-दर-महीने लगभग 20 प्रतिशत की वृद्धि दर से बढ़ रही है।

READ  जल्द ही Google Assistant पर मिलेगी AI आधारित 'ऑडियो न्यूज़ फ़ीड'

मिल्कबास्केट (Milkbasket) के सह-संस्थापक और सीईओ अनंत गोयल ने कहा कि,

“हम 2021 में $ 1 बिलियन वार्षिक आवर्ती राजस्व (ARR) प्राप्त करने के अपने लक्ष्य की दिशा में तेजी से और आगे बढ़ रहे हैं। प्रतिभा और भौगोलिक विस्तार में निवेश करने के साथ-साथ, मिल्कबास्केट (Milkbasket) ग्राहक केंद्रित नवाचार में निवेश करना जारी रखेगा, और यह धन हमारी मदद करेगा। हम ऑनलाइन किराना में एक राष्ट्रीय बाजार का लीडर बनाने के लिए सभी तीन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेंगें।”

बता दें कि मिल्कबास्केट (Milkbasket) की स्थापना 2015 में अनंत गोयल, आशीष गोयल, अनुराग जैन, और यतीश तलवाडिया द्वारा की गई थी। अब मिल्कबास्केट (Milkbasket) आपके स्थानीय किराना स्टोर को बदलना चाहता है। इससे पहले मिल्कबास्केट (Milkbasket) ने मेफील्ड एडवाइजर्स (Mayfield Advisors), बेनेक्सट (Beenext), कलारी कैपिटल ( Kalaari Capital), यूनिलीवर वेंचर्स (Unilever Ventures), लेनोवो (Lenovo) और ब्ल्यू वेंचर्स ( Blume Ventures) से $ 16 मिलियन की फंडिंग जुटाई थी।

READ  Milkbasket ने InnoVen Capital से 15 Cr बढ़ाए, सीरीज B राउंड को बंद किया

गौरतलब है कि मिल्कबास्केट (Milkbasket) सुबह 7 बजे से आधी रात तक ग्राहकों को अपनी शॉपिंग कार्ट में आइटम जोड़ने देता है, और अगली सुबह वह सामना आप तक पहुंचा दिया जाता है। तथा इसके लिए आप मिल्कबास्केट (Milkbasket) के ऐप पर एक मोबाइल वॉलेट के माध्यम से भुगतान कर सकते है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *