पीएम मोदी ने कहा भारत के डेयरी, पशुपालन क्षेत्र में चुनौतियों का समाधान करने आगे आए स्टार्टअप्स

  • by Ashutosh Kumar Singh
  • September 12, 2019

स्टार्टअप इंडिया और पशुपालन विभाग ने पशुपालन स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज शुरू करने के लिए भागीदारी की है। जी हाँ! सही सुना आपने अब देश में पशुपालन क्षेत्र से जुडें स्टार्टअप को बढ़ावा देने की पहल की जाएगी।   

इस चुनौती को आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मथुरा में आयोजित एक राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम में लॉन्च किया। सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने स्टार्टअप्स को इस क्षेत्र से जुड़ी चुनौतियों के समाधान हेतु आगे आने की अपील की। उन्होंने कहा कि चुनौती के विषयों पर विभिन्न स्टार्टअप लॉन्च किए जा सकते हैं।

उन्होंने कहा,

“भारत की समस्या का हल भारतीय मिट्टी से ही निकलेगा जो कि मेरा विश्वास है।”

डेयरी और पशुपालन क्षेत्र को प्रभावित करने वाले निम्निलिखित छह समस्याओं को लेकर आवेदन खुले हैं; 

  • एकल उपयोग प्लास्टिक विकल्प: डेयरी क्षेत्र में पॉलिथीन की जगह अन्य पर्यावरण के अनुकूल विकल्प का उपयोग करना
  • दूध की मिलावट को खत्म करना
  • हरे चारे की नई किस्में और समृद्ध पशु चारा मूल्य वर्धित उत्पाद
  • पनीर, स्मूदीज, फ्लेवर्ड मिल्क, कस्टर्ड, दही और अन्य एथनिक इंडियन प्रोडक्ट्स के साथ-साथ छोटे घरेलू बाजारों के लिए इनोवेटिव तकनीक का इस्तेमाल करना
  • ईकॉमर्स समाधान: देश भर में आधुनिक डिजिटल बुनियादी ढांचे और सलाहकार सेवाएं प्रदान करने के लिए नवाचारों को प्रोत्साहित करना
  • उत्पाद पता लगाने की क्षमता: फार्म से कांटा तक डेयरी उत्पादों की यात्रा को ट्रैक करने के लिए प्रौद्योगिकियों का उपयोग करना

आवेदन सभी डीपीआईआईटी-पंजीकृत स्टार्टअप के लिए खुले हैं। इच्छुक स्टार्टअप यहां 13 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं।

गौर करने वाली बात यह है कि यह  चुनौती ऐसे समय में आई है जब पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर प्लास्टिक उन्मूलन के लिए एक जन आंदोलन की ओर संकेत किया है, और प्लास्टिक के उपयोग को रोकने के लिए 2 अक्टूबर को सख्त उपायों की घोषणा करने की उम्मीद है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *