Ola और Oyo हुए यूके-इंडिया अवार्ड्स 2019 के लिए शॉर्टलिस्ट

  • by Yogesh
  • June 3, 2019

ओला (Ola) और ओयो (Oyo) जैसे भारतीय स्टार्टअप, जो कि यूके में एक विस्तार मोड पर हैं,  इस साल यूके-इंडिया अवार्ड्स (UK-India Awards) के लिए शॉर्टलिस्ट पर कुछ प्रमुख नामों में से एक हैं।

बता दें कि यह अवार्ड्स शो 24 से 28 जून के बीच यूके-इंडिया वीक (UK-India Week) के दौरान आयोजित किया जाएगा।  इस अवार्ड्स शो में पहली बार एक महिला निर्णायक मंडल द्वारा आंका जाएगा। और व्यापार, तकनीक और सामाजिक प्रभाव सहित कई क्षेत्रों को कवर कर रहा है।

टैक्सी हेलिंग फर्म ओला (Ola) और हॉस्पिटैलिटी ग्रुप ओयो (Oyo) ने पिछले साल यूके (UK) के बाजार में प्रवेश किया था, वे इस बाजार में ताज विवांता ( Taj Vivanta) के साथ एंट्री ऑफ द ईयर (Entrant of the Year) के लिए प्रतिस्पर्धा करेगे।

READ  Truecaller ने पेश किया 5000 रुपये वार्षिक प्लान वाला 'प्रीमियम गोल्ड' सब्सक्रिप्शन

सेंटेंडर, बार्कलेज, एक्सिस बैंक और सन ग्लोबल जैसे प्रमुख वित्तीय संगठन इसे फाइनेंशियल ऑर्गनाइजेशन ऑफ द ईयर श्रेणी में लड़ेंगे, जबकि ब्रिटिश दिग्गज बीटी (BT) और बीपी (BP) के साथ सोशल इंपैक्ट प्रोजेक्ट (Social Impact Project) में प्रतिस्पर्धा करेंगे।

वहीं इस अवार्ड शो के आयोजकों इंडिया इंक ग्रुप (India Inc Group) के संस्थापक मनोज लाडवा ने कहा कि “यूके-इंडिया अवार्ड्स (UK-India Awards) उन लोगों और संगठनों को पहचानते हैं जो यूके और भारत के बीच सेतु का निर्माण करने के लिए काम करते हैं। वे इस समृद्ध और विजयी साझेदारी के लिए नवाचार और रचनात्मकता का खजाना लाते हैं,”

मनोज लाडवा ने कहा कि, “इस साल के नामांकन अलग नहीं हैं। ये वे कंपनियां और व्यक्ति हैं जो यूके-भारत संबंधों के महत्व को पहचानते हैं और वैश्विक भूमिका जो देशों को पूरी करनी चाहिए,”

READ  स्वीडिश फर्नीचर रिटेलर IKEA ने मुंबई में शुरु की ऑनलाइन डिलीवरी

गौरतलब है कि पिछले साल इस इवेंट में लंदन के मेयर सादिक खान और यूके के विदेश मंत्री मार्क फील्ड ने भाग लिया था,  स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक (Standard Chartered Bank),  लंदन स्टॉक एक्सचेंज (London Stock Exchange) और कार्बन क्लीन सॉल्यूशंस (Carbon Clean Solutions) इस अवार्ड शो के विजेता थे।

अब अपने तीसरे वर्ष के  यूके-इंडिया वीक (UK-India Week) के समापन पर वरिष्ठ भारतीय और ब्रिटिश मंत्रियों, नीति निर्माताओं, उद्यमियों और अधिकारियों ने भाग लिया था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *