August 7, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

पीयर-टू-पीयर लेंडिंग प्लेटफॉर्म PaisaDukan ने JIIF से जुटाया फंड

  • by Yogesh
  • July 27, 2019

मुंबई स्थित एनबीएफसी पीयर-टू-पीयर (P2P) ऋण देने वाले प्लेटफॉर्म पैसादुकान (PaisaDukan) ने शुक्रवार को घोषणा की है कि उसने जेआईटीओ इनक्यूबेशन एंड इनोवेशन फाउंडेशन (JITO Incubation and Innovation Foundation) से अपने दूसरे राउंड में फंड जुटाया है।

इस फंडिंग राउंड में मनोज मेहता ने JITO एंजेल नेटवर्क (JITO Angel Network ) के एक मार्की एंजेल निवेशक हैं, और MTC ग्रुप (MTC Group) के सीईओ और कपड़ा व्यवसायी सुनील सिंघवी के नेतृत्व में अगुवाई की थी।

वहीं इस फंड के बारे में जानकारी देते हुए PaisaDukan के संस्थापक और मुख्य प्रबंध निदेशक राजीव एम रंजन ने कहा कि,

“इस फंडिंग से पी 2 पी ऋण देने के माध्यम से ग्रामीण भारत में वित्तपोषण का समर्थन करने के लिए कंपनी के मनोबल को बढ़ावा मिलेगा और कंपनी के ग्रामीण विस्तार (Rural Expansion) का समर्थन करने के लिए अनुभवी प्रमुख संसाधनों को काम पर रखने में मदद मिलेगी। इसने हमारी व्यापारिक रणनीति और देश के दूरस्थ और ऋण-ग्रस्त हिस्से तक पहुंच को आसान बनाने, महिलाओं को सशक्त बनाने और गहरी वित्तीय समावेशन को सक्षम बनाने के लिए हमारी व्यापार रणनीति और हमारी पहल पर निवेशकों के विश्वास को प्रदर्शित किया है।,”

इस फंडिंग राउंड के साथ ही बिगविन इन्फोटेक (BigWin Infotech) के स्वामित्व वाले स्टार्टअप ने नवंबर 2017 में अपनी स्थापना के बाद से $ 1.3 मिलियन का फंड जुटाया था।

यह स्टार्टअप उन में से एक था जिन्होंने पी 2 पी ग्रामीण ऋण देने की शुरुआत की थी जो उन्होंने बिहार के मधुबनी जिले में शुरू किया था। ग्रामीण क्षेत्र में पिछले पांच महीनों में संचालित PaisaDukan का कहना है कि यह जीरो डिफॉल्ट्स (Zero Defaults ) और जीरो डेज (Zero Days) के साथ ईएमआई प्राप्तियों में देरी के साथ प्रबंधित किया गया है।

राजीव एम रंजन और नीता आर रंजन द्वारा स्थापित, PaisaDukan NBFC-P2P उधार देने वाली श्रेणी में भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) से पंजीकरण प्रमाणपत्र (CoR) प्राप्त करने वाले पहले व्यवसायॆ में से एक हैं।

रिपोर्ट के अनुसार भारतीय में P2P बाजार की अनुमानित क्षमता अगले पांच वर्षों में $ 4 बिलियन से 5 बिलियन के आसपास है। बाजार के कुछ प्रमुख कंपनियों में फेयरेंट (Faircent), लेनडेनक्लब (LenDenClub), मोनेक्सो (Monexo), इंडियामनीमार्ट (IndiaMoneyMart), कैशकुमार (Cashkumar), i2iFunding, रुपी सर्किल (RupeeCircle), और पीरलैंड (PeerLand), अन्य शामिल हैं।

गौरतलब है कि पिछले महीने नोएडा स्थित i2iFunding ने SucSEED वेंचर पार्टनर्स (SucSEED Venture Partners) से 1.75 करोड़ रुपये का फंड प्राप्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *