पीयूष गोयल ने ईकॉमर्स प्लेटफ़ॉर्मो से किराना स्टोर्स को जोड़ने पर दिया जोर

वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल कथित रूप से ईकॉमर्स पोर्टल के माध्यम से स्थानीय किराना स्टोर को बढ़ावा देने की दिशा में जोर दिया है। यह बात 5 नवंबर को हुई एक बैठक में गोयल ने कही। 

आपको बता दें इस बैठक में केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने अमेरिका स्थित ईकॉमर्स दिग्गज Amazon को असंगठित खुदरा क्षेत्र के साथ काम करने के लिए आग्रह किया।

दरसल यह बैठक ईकॉमर्स के बिजनेस मॉडल को समझने, निवेश पाइपलाइन और भविष्य में किराना की दुकानों को शामिल करने के उद्देश्य के साथ आयोजित की गई थी।

सके अलावा कि उद्योग और आंतरिक व्यापार (DPIIT) के प्रचार के लिए विभाग ने ईकॉमर्स फर्मों को लिखा है कि छोटे खुदरा विक्रेता और स्थानीय स्टोर इस बड़े व्यवसाय का हिस्सा कैसे बन सकते हैं?

दरसल इस पहल के जरिये इस उम्मीद की जा रही है कि सरकार जल्द ही इसके लिए नीतियां लेकर आएगी।

ईकॉमर्स प्लेटफ़ॉर्म के लिए किरोना स्टोर्स को ऑनबोर्ड करना असल में उनके ही प्रदर्शन और लास्ट-मील डिलीवरी को बढ़ाने के एक तरीके के रूप में देखा जाता है। और इसलिए ऐसी उम्मीद है कि किराना स्टोर्स को शामिल करने पर जोर देना भारत सरकार के लिए मुश्किल काम नहीं होगा।

READ  स्टार्टअप को बढ़ावा देने में गुजरात सबसे आगे: DIPP रैंकिंग

इसके अलावा उभरते हुए रुझानों और नए खिलाड़ियों के साथ रिटेल चेन और डिजिटल पोर्टल्स दोनों किराना स्टोर बाजार को अपने नेटवर्क का व्यापक हिस्सा बनाने के लिए बेहतर तकनीकों और तरीकों को अपनाने के लिए तैयार हैं।

हाइपरलोकल क्षेत्रों में 12 से अधिक किराना स्टोरों के साथ लगभग हर प्रमुख ईकॉमर्स प्लेटफॉर्मजैसे Myntra, Walmart, Flipkart Reliance, Grofers and Big Tokri ने भारतीय बाजार में गहराई से प्रवेश करने के लिए असंगठित खुदरा दुकानों के साथ काम करना शुरू कर दिया है।

इसके साथ ही Gorfers और BigBasket जैसे प्लेटफ़ॉर्म भी बदें पैमानें पर किराना स्टोर्स के साथ साझेदारी को बढ़ावा देने के लिए अपने अपने स्तर पर सहयोग दे रहें हैं और साथ ही ताजा उत्पादों के तेजी से वितरण को सुनिश्चित करने के लिए भी ऐसे प्लेटफ़ॉर्म किराना स्टोर के साथ जुड़ना पसंद करते हैं।

दरसल बिना गुणवत्ता से समझौता किये अपने स्थानीय व्यापार को भी बढ़ावा देने का यह एक सुनहरा विकल्प है।

इस बीच Bank of America Merrill Lynch के अनुसार 2023 तक रिलायंस के मर्चेंट पॉइंट-ऑफ-सेल (PoS) के साथ करीब पांच मिलियन से अधिक किराने की दुकानों के जुड़ने का अनुमान है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *