July 3, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

सचिन बंसल ने किया NBFC के अधिग्रहण का ऐलान; CEO के रूप संभाल सकतें हैं जिम्मेदारी

Flipkart के सह-संस्थापक सचिन बंसल ने आखिरकार एक गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी (NBFC), Chaitanya Rural Intermediation Development Services Private Limited (CRIDS) के अधिग्रहण के साथ वित्तीय सेवा क्षेत्र में अपने प्रवेश का ऐलान किया है।

उनके इस ऐलान के साथ एक सबसे खास बात यह सामने आई है कि वह जल्द ही CRIDS के सीईओ के रूप में पदभार संभाल सकतें हैं। जी हाँ! कभी Flipkart में बतौर CEO अपनी सफ़ल भूमिका निभाने वाले सचिन बंसल एक बार फ़िर आपको एक अलग उद्यम में सीईओ पद सँभालते नज़र आयेंगें।

आपको बता दें कि यह सौदा बंसल द्वारा INR 739 Cr ($ 104 Mn) के निवेश के बदले हुए है। साथ ही इस सौदे के बाद एक मीडिया बयान में बंसल ने कहा,

“यह अधिग्रहण वित्तीय सेवाओं में मेरा प्रवेश है। समित और आनंद ने एक शानदार कंपनी का निर्माण किया है, जो ऐसे लोगों को वित्तीय रूप से बहुत ही आवश्यक पहुँच प्रदान करती है जिनके पास अन्य औपचारिक वित्तीय पहुँच नहीं है। मैं समित और आनंद के साथ मिलकर काम करने और उनके द्वारा किए गए ठोस काम पर आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं।”

आनंद राव और समित शेट्टी द्वारा 2009 में स्थापित, CRIDS अंडरबैंक आबादी के लिए ऋण तक पहुंच प्रदान करता है। इसका अधिकांश कारोबार माइक्रोफाइनेंस में है। यह दोपहिया, आवास, छोटे व्यवसाय और शिक्षा के लिए ऋण भी प्रदान करता है।

कर्नाटक, बिहार, झारखंड, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में फ़िलहाल CRIDS अपना संचालन कर रहा है। अधिग्रहण के साथ, समित शेट्टी और आनंद राव मौजूदा व्यवसाय खंडों को बढ़ाने की अपनी-अपनी भूमिकाओं में बने रहेंगे।

इसके साथ ही यह भी माना जा रहा है कि विभिन्न व्यावसायिक इकाइयाँ पहले की ही भांति संचालित होती रहेंगी। और साथ ही प्रबंधन में भी कोई महत्वपूर्ण बदलाव नहीं होगा। कंपनी के अनुसार बंसल का आना व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए अतिरिक्त प्रोत्साहन प्रदान करेगा।

amicableashutosh@gmail.com'

Co-Founder & Editor-In-Chief
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *