इंडस्ट्रियल IoT स्टार्टअप Syook ने IP Ventures के नेतृत्व में जुटाई फंडिंग

  • by Yogesh
  • July 22, 2019

इंडस्ट्रियल IoT स्टार्टअप, Syook ने सोमवार को कहा कि उसने आईपी वेंचर्स (IP Ventures) से  फंडिंग जुटी है। हालांकि Syook ने इस फंडिंग की पूंजी को लोकर आधिकारिक तौर पर कोई जानकारी नहीं दी है।

बता दें कि Syook भारत में अपनी बिक्री और संचालन को बढ़ाने के लिए धन का उपयोग करने की योजना बना रही है, और मध्य-पूर्व और दक्षिण-पूर्व एशियाई बाजारों में भी अपना विस्तार करने की योजना बना रही है।

Syook की स्थापना 2016 में आईआईटी और शलम्बरगर के पूर्व छात्र अर्जुन नागराजन, सौरभ शर्मा और अमन अग्रवाल की गई थी। Syook एक औद्योगिक आईओटी मंच है, यह अपने मालिकाना IoT प्लेटफॉर्म का उपयोग लोगों और अन्य महत्वपूर्ण परिसंपत्तियों जैसे कि विनिर्माण (manufacturing), ऑटोमोबाइल (automobile), हेल्थकेयर (healthcare), शिक्षा (education) और रक्षा (defence) क्षेत्र के लिए सूक्ष्म स्थान प्रदान करने के लिए करता है।

वहीं इस फंडिंग के बारे में जानकारी देते हुए Syook के सह-संस्थापक अर्जुन नागराजन ने कहा कि,

“हम आईपी वेंचर्स (IP Ventures) के साथ साझेदारी करने के लिए वास्तव में उत्साहित हैं क्योंकि हम अपने पूर्ण स्टैक औद्योगिक आईओटी उत्पाद (IoT product),  Syook InSite के साथ डिजिटल संचालन प्रबंधन में बदलाव करना जारी रखते हैं। हम मानते हैं कि उनके व्यापक नेटवर्क हमें सही लीवरेज (leverage) प्रदान करेंगे, जो हमें चल रहे उद्योग 4.0 क्रांति में नेतृत्व की स्थिति में लाएंगे। ”

वहीं इस निवेश को लेकर एक बयान में Syook के सीटीओ अमन अग्रवाल ने कहा कि,

READ  UrbanClap ने हासिल किया $50 मिलियन का ताज़ा निवेश

“हम एक मॉड्यूलर, स्केलेबल (scalable) और मजबूत उत्पाद बना रहे हैं जो संगठनों को अपने संचालन में दृश्यता देता है। प्रणाली अत्यधिक विन्यास योग्य है और उपयोग के कई मामलों को पूरा करती है। जब हम अनुकूलन कार्यों की बात करते हैं तो हम अपने ग्राहकों को प्रतिस्पर्धात्मक लाभ देने के लिए मशीन लर्निंग का उपयोग करते हैं। ”

वहीं आईपी वेंचर्स (IP Ventures) के निवेशक प्रमोद गुप्ता ने कहा कि,

“Syook संगठनों को वास्तविक समय के इनडोर स्थान को सक्षम करके अपने लोगों की सुरक्षा और उनकी संपत्ति की उत्पादकता बढ़ाने में मदद करता है। उनकी मालिकाना तकनीक न केवल उस स्थान को सक्षम बनाती है जहां जीपीएस (GPS) जैसे पारंपरिक पोजिशनिंग सिस्टम काम नहीं करते हैं, लेकिन सूचनाओं (notifications), विश्लेषिकी (analytics), कार्य के साथ भी मदद करते हैं। “

गौरतलब है कि Syook का RTLS (Real Time Location System) संगठनों को सुरक्षा, उत्पादकता, अनुपालन और संपत्ति के उपयोग में सुधार करने का अधिकार देता है। Syook ने कहा है कि वर्तमान में RTLS बाजार की कीमत लगभग 1.9 बिलियन डॉलर है और 2025 तक 10.1 बिलियन डॉलर होने की उम्मीद है, जिसमें लगभग 25 प्रतिशत सीएजीआर (CAGR) है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *