June 2, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
pratilipi-banner-compressed-mobile

स्थानीय भाषाओँ पर आधारित स्टोरीटेलिंग प्लेटफार्म Pratilipi ने सीरीज-सी दौर में हासिल किया ₹76 करोड़ का निवेश

देश के लोकप्रिय स्थानीय भाषाओँ पर आधारित ऑडियो और वीडियो स्टोरीटेलिंग प्लेटफार्म Pratilipi ने Tencent के नेतृत्व में सीरीज़-सी दौर में 76 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

जी हाँ! Pratilipi के सीरीज-सी निवेश दौर में Tencent के साथ ही साथ Omidyar Network, Shunwei Capital और Nexus Venture Partners जैसे मौजूदा निवेशक भी शामिल रहे। लेकिन अभी भी यह दौर खत्म नहीं हुआ है और कंपनी अभी भी इस दौर में और निवेश हासिल कर सकती है।

Pratilipi के लिए यह निवेश इसलिए भी महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि इसके पहले कंपनी ने करीब एक साल पहले आखिरी निवेश हासिल किया था। तब इसने चीन के Qiming Venture Partners के नेतृत्व में सीरीज-बी दौर में 105 करोड़ रूपये का फंडिंग हासिल की थी।

वहीँ मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से सामने आई नियामकीय फाइलिंग की मानें तो Pratilipi ने 1,69,846 रुपये प्रति शेयर की कीमत पर 4,479 Series C CCPS और 1 इक्विटी शेयर आवंटित किया है। और इस दौर में  Tencent के नेतृत्व करते हुए 57.4 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

दरसल यह साफ़ जाहिर करता है कि देश में स्थानीय भाषाओँ पर आधारित मंचों के लिए आपार संभावनाएं हैं। खुद Pratilipi (प्रीतिलिपि) मुख्य रूप से कई भारतीय भाषाओं जैसे हिंदी, गुजराती, बंगाली, मराठी, मलयालम और सात अन्य में Text और ऑडियो स्टोरीटेलिंग की सुविधा प्रदान करता है।

कंपनी के दावे के मुताबिक अब तक इसके प्लेटफार्म पर कुल 100,000 लेखक, 7.2 मिलियन पाठक और 800K से अधिक कहानियां हैं।असल में Jio के आने से देश में स्मार्टफोन के साथ ही साथ इन्टरनेट भी टियर 2 और टियर 3 जगहों में काफी तेजी से अपनी जगह बना सका है।

और यही कारण है कि इंटरनेट में अब दूरदराज़ के इलाकों से भी भारी खपत दर्ज की जा रही है, जो अपनी स्थानीय भाषा के कंटेंट को तर्जी से रहें है। और Pratilipi, ShareChat, Bytedance के Helo और YourQuote जैसे प्लेटफार्म की बढ़ती लोकप्रियता का यह एक बड़ा कारण भी है।

amicableashutosh@gmail.com'

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *