July 2, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin

Reliance की एंट्री से बदलेगी किराना कारोबार की सूरत, 4 साल में 50 लाख के पार होंगे डिजिटल स्टोार

  • by Yogesh
  • May 13, 2019

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited) के ऑनलाइन रिटेल मार्केट में उतरने से बाजार में एक नया रिवॉल्यूशन होने वाला है,

रिपोर्ट्स के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries)की एंट्री से देशभर में डिजिटल रिटेल स्टोर की संख्या 2023 तक 50 लाख से अधिक हो जाएगी, बता दें कि वर्तमान में देश में डिजिटल रिटेल स्टोर की संख्या लगभग 15 हजार है।

बता दें कि देश का रिटेल मार्केट लगभग 700 अरब डॉलर है, इनमें 90 प्रतिशत हिस्सेदारी असंगठित क्षेत्र की है, असंगठित क्षेत्र में ज्यादातर मोहल्लों में स्थित किराना दुकानों की हिस्सेदारी है।

बता दें कि आधुनिक व्यापार एवं (E-commerce) की बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण जीएसटी ने भी इसमें उत्प्रेरक का काम किया है, जिससे आधुनिकीकरण का दबाव बढ़ा है, यही कारण है कि अब रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) विश्व का सबसे बड़ा ऑनलाइल-टू-ऑफलाइन (E-commerce) मंच तैयार करने पर काम कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) मोहल्लों में स्थित किराना दुकानों को अपने जियो (JIO) मोबाइल प्वॉयंट ऑफ सेल के जरिए अपने 4जी नेटवर्क से जोड़ने की योजना बना रही है, जिसका इस्तेमाल कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को आपूर्ति करने में किया जाएगा।

गौरतलब है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) इस श्रेणी में स्रैपबिज (Sappige), नुक्कड़ शॉप्स (Nookad Shops) और गोफ्रुगल ( Goofrugal) जैसी कंपनियों को टक्कर देगी।

बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) दुकानदारों को महज 3 हजार रुपए में मोबाइल प्वायंट ऑफ सेल मशीनें दे रही है, जबकि स्रैपबिज (Sappige) इसके लिए दुकानदारों से 50 हजार रुपए का शुल्क लेती है, वहीं नुक्कड़ शॉप्स (Nookad Shops) दुकानदारों को 30 हजार रुपए से 55 हजार रुपए की लागत में मशीनें दे रही हैं, जबकि गोफ्रुगल ( Goofrugal) दुकानदारों को 15 हजार रुपए में मशीनें देती है।

अगर रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के इस क्षेत्र में आने से दुकानदारों द्वारा डिजिटलीकरण अपनाने को गति मिलेगी, क्योंकि रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के आने से प्वॉयंट ऑफ सेल मशीनों की लागत काफी कम हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *