UberEats

Uber का भारत में अपनी फ़ूड डिलीवरी सेवा UberEats को बंद करने जैसा कोई इरादा नहीं

काफी समय से ऐसे अफवाहों और मीडिया रिपोर्टों को इंटरनेट पर चलाया जा रहा था कि लोकप्रिय कैब प्रदाता कंपनी Uber Technologies भारत में अपने ऑनलाइन फूड ऑर्डर डिलीवरी बिजनेस को बंद कर सकती है। 

जी हाँ! हम बात कर रहें हैं Uber के फ़ूड डिलीवरी बिज़नेस UberEats के बारे में, जिसके काफी समय से बंद होने की अटकलें लगाई जा रहीं थीं।

लेकिन अब इन तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए कंपनी के कार्यकारी अधिकारी ने इकोनॉमिक टाइम्स को बताया है कि वह इस बिजनेस में बने रहना चाहते हैं और यहां तक ​​UberEats के विस्तार की भी योजना बना रहें हैं।

साथ ही उन्होंने बताया कि UberEats के विस्तार के तहत कंपनी और भी अधिक डिलीवरी पार्टनर्स को नियुक्त करने पर विचार कर रही है।इसके साथ ही UberEats ताज़ा सब्जियों और फलों की डिलीवरी संबंधी भी सेवाओं के आगाज़ को लेकर विचार कर रही है।

इस बात से कोई इनकार नहीं है कि इस अमेरिकी दिग्गज कंपनी ने अपनी इस UberEats नामक भारतीय खाद्य वितरण शाखा को बेचने की कोशिश की। हालाँकि इसको सही खरीदार नहीं मिल सका।

UberEats

दरसल इस क्षेत्र में दो सबसे बड़े प्रतिद्वंदियों Swiggy और Zomato के चलते UberEats को इस क्षेत्र में अपने पैर जमा पाने में कड़ी चुनौती मिल रही है।

लेकिन Uber अभी भी प्रयास कर रहा है कि uska यह प्लेटफ़ॉर्म भी अच्छी तरह से चले और अपने संचालन को भलीभांति चालू रख पाए। दरसल इस बात में कोई शक नहीं कि अभी भी इस भारतीय क्षेत्र में अपार संभवानाएं हैं और इन्हीं संभवनाओं की लालच ने Uber को बांधे रखा है। 

इस बीच आपको बता दें कि कुछ समय पहले Uber ने एक अलग इकाई Uber India Systems के तहत अपने सभी भारत परिचालन को समेकित किया है और इसमें खाद्य वितरण व्यवसाय भी शामिल है।

साथ ही अब Uber के मुख्य उत्पाद अधिकारी माणिक गुप्ता इस बात की पुष्टि की है कि कंपनी अब किराना वितरण व्यवसाय में प्रवेश करने का इरादा रखती है।

दिलचस्प यह है कि ऐसा करने पर Uber एक बार फ़िर सीधे दो अन्य अमेरिकी दिग्गज, कंपनियों Amazon और Flipkart के साथ टक्कर लेता नज़र आएगा, जिन्होंने आगामी दिनों में अपने किराना व्यवसाय में कदम रखने के संकेत दे दिए हैं।

हालाँकि BigBasket और Grofers जैसे कुछ खिलाड़ी पहले से ही इस क्षेत्र में प्रमुखता से स्थापित हैं और बढ़ रहे हैं। हालाँकि भारतीय बाज़ार इतना बड़ा है कि यहाँ प्रत्येक ख़िलाड़ी के लिए अनेकों अवसर हों सकतें हैं, लेकिन क्षेत्रों ने अनुभव और सही परिचालन इस दिशा में एक अहम भूमिका निभाता है। 

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *