Uber India ने 10-15% कर्मचारियों को निकाला; Global Downsizing बताई वजह

बढ़ते घाटे और निवेशकों के ध्यान के बीच NASDAQ- सूचीबद्ध राइड-हीलिंग कंपनी Uber अपनी वैश्विक टीम की छटनी हो रही है। और अब इससे Uber India भी काफी प्रभावित हुआ है।

ईटी की एक रिपोर्ट ने लोगों को इस मामले से अवगत कराते हुए बताया गया कि Uber India ने अपने 10-15% कर्मचारियों को बाहर कर दिया है। इससे बेशक ही देश में Uber की कार्यप्रणाली थोड़ी प्रभावित जरुर हो सकती है।

आपको बता दें यह छटनी न सिर्फ़ Uber के कैब व्यवसाय में बल्कि UberEats तहत इसकी ऑनलाइन खाद्य-वितरण व्यापार को भी प्रभावित करती नज़र आई।

आपको बता दें कि Uber के भारत में 350-400 कर्मचारी हैं। सोमवार को कंपनी ने कर्मचारियों को यह कहते हुए ईमेल किया था कि यह दुनिया भर में 350 लोगों को नौकरियों से हटा रही है इसमें से 70% संयुक्त राज्य और कनाडा के कर्मचारी प्रभावित हुए हैं।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि Uber की भारतीय नीति टीम लगातार कम होती जा रही है और अधिकांश कार्य भारतीय कानून फर्मों में से एक को आउटसोर्स किया जा रहा है।

READ  உபர் சுய-ஓட்டுநர் திட்டத்தைத் தொடங்குதல் விருப்பங்கள்

इसके अलावा अभी तक यह पता नहीं चला है कि किस विभाग के कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया गया है। फ़िलहाल भले भारत Uber के वैश्विक व्यापार राजस्व में केवल 2% योगदान देता है, लेकिन देश में कंपनी को अपने संचालन पर काफी खर्च करना पड़ता है।

आपको बता दें कि वैश्विक स्तर पर Uber ने 2019 की दूसरी तिमाही में $3.7 Bn की तुलना में 2019 की दूसरी तिमाही में 5.2 Bn की हानि दर्ज की है।

वहीँ कंपनी ने प्रारंभिक संबंध के लिए पेश किए गए ड्राइवर प्रशंसा पुरस्कार पर खर्च किए गए $ 298 Mn को इस नुकसान के लिए जिम्मेदार ठहराया था।

वही कंपनी ने सार्वजनिक पेशकश स्टॉक-आधारित मुआवजे के खर्चों के लिए $3.9 Bn खर्च किये हैं। आपको बता दें कि कुछ ही समय Uber के वैश्विक  सीईओ Dara Khosrowshahi  ने भारत का दौरा किया था।

READ  Facebook ने WhatsApp, Instagram, और Messenger के लिए लॉन्च किया 'Facebook Pay'

हालाँकि सूत्रों का साफ़ तौर पर कहना है कि उनकी इस यात्रा का सीधा संबंध छंटनी से नहीं हो सकता है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *