12 करोड़ रुपये कमाने के लिए Unacademy ने खर्च किये 112 करोड़ रुपये

आपने अक्सर लोगों और फ़िल्मों में सुना होगा कि भारत में शिक्षा का बाज़ार बहुत ही बड़ा है और इसलिए शायद यहाँ आपको बहुत से ख़िलाड़ी नज़र आयेंगें, जो पैसों से ज्यादा इस बाज़ार में ग्राहकों की हिस्सेदारी को सुनिश्चित करते नज़र आते हैं

और अब ऐसा ही कुछ उदाहरण सामने आया है BYJU और Toppr बाद अपनी रोमांचक शिक्षा तकनीक के चलते काफी तेजी से नाम कमाने वाला स्टार्टअप Unacademy,  जिसके प्रतिद्वंदियों में Doubtnut, Classplus और Gradeup भी शामिल हैं।

और अगर आप गौर करेंगें तो पिछले 12 महीनें इस चार साल पुरानी कंपनी के लिए कई मायनों में काफ़ी महत्वपूर्ण रहे हैं। दरसल इस दौरान Unacademy ने $200 मिलियन से अधिक की वैल्यूएशन के साथ $55 मिलियन का सीरीज़ D राउंड क्लोज किया था।

इसके साथ ही Unacademy ने इन्हीं महीनों में WiFi Study नामक EdTech स्टार्टअप का के भी अधिग्रहण की घोषणा की थी।

वहीँ कंपनी के लिए और चीज़ जो सबसे खास रही वह थी Flipkart Group के सीईओ कल्याण कृष्णमूर्ति का एक निवेशक के रूप में कंपनी से जुड़ना।

बहरहाल कंपनी ने इस बीच कंपनी ने अपने राजस्व में वृद्धि करने के साथ ही साथ वित्त वर्ष 19 में अपने खर्च में भी इजाफ़ा किया है।

कंपनी द्वारा MCA के साथ दायर की गई वार्षिक वित्तीय रिपोर्ट के अनुसार Unacademy ने FY19 के दौरान परिचालन से राजस्व में 11.66 करोड़ रुपये कमाए।

आपको बता दें कि इसका पूरा राजस्व सशुल्क सदस्यता सेवा के माध्यम से आया है। वित्त वर्ष 19 के दौरान कंपनी ने राजस्व में 6.6X की बढ़ोतरी दर्ज की, क्यूंकि वित्त वर्ष 18 में इसका राजस्व सिर्फ़ 1.76 करोड़ रुपये ही था।

इसके साथ ही इसने अपनी कुल आय का लगभग 46.5%, यानी 10.23 करोड़ रुपये वर्तमान वित्तीय परिसंपत्तियों के जमा और आवागमन पर ब्याज के माध्यम से अर्जित किया।

Unacademy ने FY19 के दौरान अपनी प्रतिभा को बढ़ाया है और कर्मचारी लाभ खर्चों पर 3.9X अधिक खर्च किया है। वित्त वर्ष 18 में 10.92 करोड़ रुपये के विपरीत पिछले वित्त वर्ष 20199 में इसने 42.81 करोड़ रुपये खर्च किए।

इसके अलावा कंपनी ने अन्य परिचालन खर्चों में 68.43 करोड़ रुपये खर्च किए, जिससे कुल खर्चों में 290% की वृद्धि हुई, जो वित्त वर्ष 2018 में 28.82 करोड़ रुपये से बढ़कर वित्त वर्ष 2019 में 112.17 करोड़ रुपये हो गया है।

ऐसे में अगर हम देखे तो Unacademy ने FY19 के दौरान करीब करीब 12 करोड़ रूपये का राजस्व कमाया, वहीँ कंपनी ने करीब 112 करोड़ रूपये का खर्च किया।  

हालाँकि आज के समय में अब स्टार्टअप्स की कमाई और खर्चों में इतना अंतर ज्यादा हैरान नहीं करता है और इस क्षेत्र की खबर रखने वालों को मानों ऐसी चीज़ों की आदत सी हो गई है

खैर! जहाँ तक ​​नुकसान की बात है Unacademy ने वित्त वर्ष 19 में नुकसान आँकड़े में 3.82X की बढौतरी दर्ज करने हुए 90.27 करोड़ रुपये का आँकड़ा छू लिया, आपको बता दें पिछले वित्त वर्ष 2018 में इसका नुकसान करीब 23.58 करोड़ रुपये था।

READ  फेसबुक अब 'Memes' के लिए लॉन्च करने जा रहा है एक नई ऐप 'LOL'

हालाँकि राजस्व में 500% से अधिक वृद्धि के साथ वित्त वर्ष 19 में Unacademy के वित्तीय प्रदर्शन में बेशक सुधार हुआ है। और खास यह है कि राजस्व पूरी तरह से सदस्यता से आया है, और यह साफ दर्शाता है कि Unacademy Plus के लिए यह एक अच्छा संकेत है।

आपको बता दें कंपनी ने आधिकारिक तौर पर इस साल मई में Unacademy Plus लॉन्च किया था। हालाँकि इसके पहले भी कंपनी ने FY18 में कुछ समय के लिए सब्सक्रिप्शन बेचना शुरू कर दिया है।

Loading...

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रौद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं | Founder & Editor-In-Chief (TechSamvad)
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *