वेस्ट मैनेजमेंट स्टार्टअप Recykal ने Triton Investment Advisors के नेतृत्व में प्री-सीरीज Aराउंड जुटाए $ 2M

  • by Yogesh
  • August 26, 2019

क्लाउड-आधारित वेस्ट मैनेजमेंट एंड रीसाइक्लिंग स्टार्टअप (waste management and recycling startup)  Recykal ने पूरे भारत में अपने व्यवसाय का विस्तार करने के लिए प्री-सीरीज ए फंडिंग राउंड में $ 2 मिलियन की फंडिंग जुटाई है।

Recykal द्वारा आयोजित इस फंडिंग राउंड में ट्राइटन इनवेस्टमेंट एडवाइजर्स (Triton Investment Advisors ), पिडिलाइट इंडस्ट्रीज (Pidilite Industries) के निदेशक अजय पारेख का पारिवारिक कार्यालय और मौजूदा निवेशक विजय आचार्य, बैंक ऑफ सिंगापुर (Bank of Singapore) के पूर्व प्रबंध निदेशक ने इस दौर में भाग लिया था।

Recykal की स्थापना 2016 में अभिषेक देशपांडे और अनिरुद्ध जालान द्वारा की गई थी। हैदराबाद स्थित स्टार्टअप Recykal का डिजिटल प्रौद्योगिकी प्लेटफ़ॉर्म अपशिष्ट जनरेटर (digital technology platform connects waste generators) को वेस्ट एग्रीगेटर्स (waste aggregators) और रिसाइकिलर्स (recyclers) के साथ जोड़ता है, और लेन-देन की सुविधा देता है। तथा दृश्यता (visibility), पारदर्शिता (transparency) और रिसाइकिल योग्य कचरे की ट्रैसेबिलिटी ( traceability ) प्रदान करता है।

READ  फ़ैशन, लाइफ-स्टाइल और इलेक्ट्रॉनिक आइटम हो सकतें हैं Amazon और Flipkart से गायब

गौरतलब है कि कंपनी ने एक ऐप भी बनाया है जो उपभोक्ता जागरूकता (consumer awareness) और FMCG और इलेक्ट्रॉनिक ब्रांड्स (electronic brands) के लिए प्रोग्राम को वापस लेने की सुविधा देता है, और सरकार द्वारा उल्लिखित विस्तारित निर्माता जिम्मेदारी (EPR) दिशानिर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करता है। कंपनी के प्रौद्योगिकी समाधान ( technology solutions ) 150 व्यवसायों में तैनात हैं। यह वर्तमान में हैदराबाद, पुणे और बेंगलुरु में चालू है, और अपने इन प्लेटफार्मों के माध्यम से प्रति माह 1,000 मीट्रिक टन से अधिक रिसाइकिलिंग करती है।

वहीं इस फंडिंग राउंड के बारे में जानकारी देते हुए Recykal के सह-संस्थापक, अभिषेक देशपांडे ने कहा कि,

” जो फंड जुटाए गए हैं, उससे हमें अपनी तकनीक की पेशकश को मजबूत करने में मदद मिलेगी, हमारी टीम का विस्तार होगा और पूरे भारत में नए शहरों में उपस्थिति होगी। ट्राइटन (Triton) के साथ हमारा जुड़ाव हमारे और उद्योग के लिए एक रोमांचक यात्रा की शुरुआत है। “

इस फंड़िग को लेकर पिडिलाइट इंडस्ट्रीज (Pidilite Industries) के निदेशक अजय पारेख ने कहा कि,

“संगठन, सरकारें और समुदाय जो स्थिरता को देखते हैं वे अपने स्थायित्व लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अपशिष्ट प्रबंधन और सामग्रियों की वसूली को महत्वपूर्ण मानते हैं। इस स्थान में निवेश संभावित रूप से लाखों नौकरियां पैदा कर सकता है। ”

कंपनी के अनुसार, भारतीय कचरा प्रबंधन बाजार (waste management market) 2025 तक $ 14 बिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है। यह मुख्य रूप से अनौपचारिक क्षेत्र द्वारा संचालित है, जिसमें अधिकांश लेनदेन ऑफलाइन है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *