August 3, 2020
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
YouTube 'vs' TikTok

YouTube ‘vs’ TikTok: क्यों शुरू हुई दो दिग्गज़ विडियो प्लेटफार्मों में आपसी होड़?

हाल में अगर आप YouTube और TikTok में से किसी भी एक प्लेटफार्म पर बतौर यूजर भी एक्टिव होंगे तो आपको पिछले कुछ समय से चल ही YouTube vs TikTok के टॉपिक के ट्रेंड करने का अंदाज़ा अब तक हो ही गया होगा।

जी हाँ! YouTube और TikTok दोनों ही प्लेटफार्म पर क्रिएटर्स के बीच मानों एक जुबानी जंग सी शुरू हो गयी है, जिसने कल सबसे ज्यादा सुर्खियाँ बटोरी जब YouTube के पसंदीदा रोस्टर, Carry Minati (अजय नागर) नें TikTok के एक क्रिएटर को लेकर YouTube पर एक विडियो पोस्ट किया।

लेकिन ऐसा क्या हुआ कि काफी सालों से फ्री विडियो कंटेंट जगत में अपनी धाक जमा चुकें YouTube के क्रिएटर्स और कुछ ही सालों पहले बाजार में कदम रख अचानक से भारी लोकप्रियता हासिल करने वाले TikTok प्लेटफार्म व इसके क्रिएटर्स के बीच यह घमासान शुरू हुआ?

दरसल इस विवाद की शुरुआत हुई जब एक YouTube क्रिएटर ने TikTok प्लेटफार्म पर मौजूद कुछ कंटेंट और उनके क्रिएटर्स को रोस्ट करते हुए एक विडियो पोस्ट किया। और उसके बाद एक TikTok क्रिएटर ने उस विडियो के जवाब में YouTube क्रिएटर के खिलाफ एक विडियो बनाया और कुछ आरोप भी लगायें।

इतना ही नहीं यह बात इतनी बढ़ गयी कि एक YouTube क्रिएटर ने TikTok के क्रिएटर्स पर अधिकारिक अकाउंट की पहचान बन चुकें Blue Tick को Instagram से खरीदने और डिजिटल एजेंसियों द्वारा नकली Wikipedia पेज बनवाकर गलत ढंग से अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स को वेरीफाई करवाने का आरोप भी लगाया।

इस विवाद के बीच दोनों ही पक्षों से अपने अपने तर्क आने लगे जैसे YouTubers ने कहा कि लिपसिंक करके कोई विडियो तैयार करना कोई कठिन काम नहीं है। साथ ही यह भी कहा गया कि YouTube पर 15-25 मिनट के विडियो के मुकाबलें TikTok पर 15 से 25 सेकंड के विडियो बनाना बेहद आसान है।

वहीँ इसके जवाब में भी TikTok क्रिएटर्स की ओर से काफी बातें और तर्क दिए गये। लेकिन हम यहाँ आपको किसी भी प्लेटफार्म के क्रिएटर्स की बातों या उनकें विडियो के बारें में बतानें नहीं आयें हैं। और न ही यह बताने की कौन सा प्लेटफार्म या क्रिएटर किसी से बड़ा या सही-गलत है।

दरसल हम आपको इस YouTube vs TikTok के विषय का एक अहम और दोनों कंपनियों द्वारा प्रमाणित पहलु दिखाना चाहतें हैं। जी हाँ! हमारा मानना है कि यह विषय किन्हीं क्रिएटर्स के बीच की जंग का नहीं बल्कि आँकड़ों के आधार पर मौजूदा समय में दोनों प्लेटफार्म के बारे में जाननें का है।

हर प्लेटफार्म खुद में खास होता है और हर क्रिएटर की अपनी मेहनत होती है, लेकिन अंत में दर्शक या जिन्हें आम भाषा में यूजर्स कहतें हैं, वहीँ किसी प्लेटफार्म की सफ़लता का पैमाना बुनते हैं। तो आइये जानें इन्हीं पैमानों से जुडें कुछ आँकड़े। लेकिन एक बात जरुर कहना चाहूँगा कि इन आँकड़ों के आधार पर आप भले अपनी कुछ भी राय बना लें लेकिन बतौर प्लेटफार्म हमारा इन मसकद सिर्फ आपके सामने आँकड़े पेश करने का, न की किसी प्लेटफार्म को बड़ा या छोटा साबित करने का।

YouTube के बारे में कुछ आंकडें;

– 14 फरवरी 2005 को अमेरिका के कैलिफ़ोर्निया से शुरू हुआ यह विडियो प्लेटफार्म, इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार अधिकारिक रूप से 7 मई 2008 को भारत में लॉन्च किया गया था।

– हाल ही में Social Media Today की एक रिपोर्ट के मुताबिक YouTube दुनिया भर में देखी जानें वाली दूसरी सबसे बड़ी वेबसाइट है, और दिलचस्प बात यह है कि हर एक विजिट में औसतन प्लेटफार्म 6.5 पेज व्यू हासिल करता है।

– YouTube अपने प्लेटफार्म पर हर महीनें करीब 2 बिलियन लॉग इन यूजर्स दर्ज करता है, जो पूरे इंटरनेट के एक तिहाई उपयोगकर्ताओं से अधिक आँकड़ा है।

सोर्स: Social School

– दिलचस्प यह है कि इतने उपयोगकर्ताओं में से इसके 81% उपयोगकर्ता 15 से 25 वर्ष की उम्र के होते हैं।

– इसके साथ ही YouTube ने करीब 100 से अधिक देशों में अपने लोकल वर्जन भी लॉन्च किये हैं, जिनमें करीब 80 भाषाओँ का कंटेंट मौजूद है।

– YouTube के लोकप्रिय चैनलों (करीब 250K सब्सक्राइबर आधार वाले चैनलों) में से सिर्फ 33% में ही अंग्रेजी भाषा में कंटेंट अपलोड होता है।

– आंकड़ों की मानें तो YouTube पर 95% व्यूअर्शिप क्षेत्रीय भाषाओँ पर आधारित कंटेंट में ही आती है।

– करीब कुल तौर पर 500 घंटों से भी अधिक के विडियो YouTube पर हर मिनट अपलोड होतें हैं।

– वहीँ अब तक कुल 1 बिलियन घंटों से भी ज्यादा तक विडियो YouTube पर देखे जा चुकें हैं।

youtube Stats

– हर दिन YouTube पर एक औसत यूजर 12 मिनट और 43 सेकंड का वक़्त बिताता है।

– दुनिया भर के मोबाइल इंटरनेट ट्रैफिक में अकेले YouTube की ही हिस्सेदारी 37% के करीब है।

– दुनिया भर के करीब 62% बिज़नेस अपने विडियो कंटेंट को पोस्ट करने के लिए YouTube का सहारा लेते हैं।

– करीब 90% लोग नयी ब्रांड्स और बिज़नेस को YouTube के जरिये ही पहली बार जानना शुरू करते हैं।

TikTok के बारे में कुछ आंकडें;

– आपको बता दें ByteDance ने सबसे पहले सितंबर 2016 में Douyin को चीन में लॉन्च किया था।

– बाद में ByteDance ने ही 2017 में Douyin को नए नाम TikTok के साथ iOS और एंड्रॉइड के लिए चीन से बाहर लॉन्च किया।

– 2 अगस्त 2018 को Musical.ly को भी TikTok के साथ मर्ज करके इसको अमेरिका में भी लॉन्च किया गया।

– हाल ही में ही शोर्ट-विडियो शेयरिंग ऐप TikTok ने Google Play Store और The App Store पर 2 बिलियन डाउनलोड का आँकड़ा पार कर लिया है।

– Play Store जहाँ ऐप ने अपने कुल 75.5% यानि करीब 1.5 बिलियन डाउनलोड दर्ज किये, वहीँ iOS App Store पर यह आँकड़ा 24.5% यानि लगभग 495.2 मिलियन डाउनलोड का रहा।

– TikTok ने पिछले दो हफ्तों में डाउनलोड की संख्या में 50% की वृद्धि दर्ज की। 13 अप्रैल तक TikTok ने अकेले Play Store पर 1 बिलियन डाउनलोड हासिल कर लिए थे।

– Sensor Tower की एक रिपोर्ट की मानें तो इन डाउनलोड्स में कुल मिलाकर 611 मिलियन यानि 30.3% भारत से हैं। वहीँ दूसरे स्थान पर चीन 196.6 मिलियन यानि 9.7% डाउनलोड के साथ काबिज है। इसके बाद 165 मिलियन डाउनलोड के साथ अमेरिका TikTok के लिए तीसरा सबसे बड़ा बाजार बना।

– TikTok ने अब तक कुल $456.7 मिलियन का राजस्व अर्जित किया है, जिसमें iOS App Store का $435 मिलियन और Play Store ने $21.4 मिलियन का योगदान शामिल रहा।

– राजस्व के मामले में चीन से जहाँ $331 मिलियन यानि कुल राजस्व का 72.3% आया वहीँ दूसरे और तीसरे स्थान पर अमेरिका और ब्रिटेन क्रमशः $86.5 मिलियन और $9 मिलियन का राजस्व योगदान करते नज़र आये।

– TikTok पर मासिक एक्टिव यूजर्स का आँकड़ा 800 मिलियन तक पहुँच गया है।

– आंकड़ों की मानें तो TikTok पर दैनिक रूप से एक एक्टिव यूजर करीब 52 मिनट देता है।

– एक यूजर दिन में करीब 8 बार TikTok ऐप खोलता है।

YouTube बनाएगा TikTok जैसा प्लेटफार्म

इस बीच जहाँ एक तरह Facebook ने अपनी Lasso ऐप के जरिये TikTok को टक्कर देना चाही है। वहीं अब रिपोर्ट के मुताबिक YouTube भी TikTok की तर्ज पर एक प्लेटफार्म बनाने की दिशा में काम कर रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी इसका नाम Shorts दे सकती है।

यह Shorts ऐप आपको TikTok की तरह ही मोबाइल ऐप के फीड में विडियो अपलोड करने की सुविधा देगी जहाँ आप TikTok की तरह ही लाइसेंस प्राप्त गीतों का भी फायदा उठा पायेंगें। और उन गानों को विडियो के भी इस्तेमाल किया जा सकेगा।

ऐसे में जाहिर हो जाता है कि भले क्रिएटर्स आपस में कुछ भी कह सुन लें, लेकिन दोनों कम्पनियां उपयोगकर्ताओं को टारगेट पर विडियो कंटेंट के हर आयाम के जरिये उन्हें रिझाने का प्रयास कर रही है और इसके जरिये उनका मकसद भी साफ़ और साधारण सा है, लोकप्रिय बनकर एक बड़ा उपयोगकर्ता आधार हासिल करना और फिर इसको राजस्व में बदलने की कोशिश करना।

स्टैट्स क्रेडिट: Social Media Today, Wallaroo Media & Internet

इमेज क्रेडिट: Social School & Internet

amicableashutosh@gmail.com'

Co-Founder & Editor-In-Chief
  • facebook
  • twitter
  • linkedIn
  • instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *