हाईजीनिक रेटिंग के बिना पंजाब में डिलीवरी नहीं कर सकेंगे Zomato और Swiggy

  • by Yogesh
  • June 1, 2019

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने कहा कि ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग (Online food ordering) और डिलीवरी कंपनियां (delivery companies), Zomato और Swiggy अनिवार्य स्वच्छता रेटिंग के बिना पंजाब में खाने की चीजें नहीं दे पाएंगे।

बता दें कि पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने सभी खाद्य व्यवसाय संचालकों (Food Business Operators) को पंजीकृत या उनसे संबद्ध स्वच्छता रेटिंग प्रदर्शित करने के लिए ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग (Online food ordering) और डिलीवरी कंपनियों (delivery companies) को निर्देशित किया।

इस आदेश का अनुपालन करने के लिए कंपनियों को तीन महीने का समय देते हुए, पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने कहा कि इस संबंध में औपचारिक संचार जारी होने के 90 दिनों के बाद “कोई भी ऑनलाइन खाद्य आदेश स्वच्छता रेटिंग ( hygiene rating) के बिना राज्य में वितरित नहीं किया जाना है”।

पंजाब फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन कमिश्नर (Drug Administration Commissioner) और टैंडरस्ट पंजाब मिशन के निदेशक के एस पन्नू ने कहा कि खाद्य आपूर्ति के ऑनलाइन ऑर्डर और डिलीवरी तंत्र ने उपभोक्ताओं और खाद्य निर्माताओं के बीच एक शारीरिक असंतोष पैदा कर दिया है।

READ  #विशेष2019: Zomato, Byjus, OYO जैसे स्टार्टअप्स ने एक साल में हासिल किया ₹32200 करोड़ का निवेश

एस पन्नू ने कहा कि, “भोजन की गुणवत्ता सुनिश्चित करने और स्वास्थ्यवर्धक स्थिति जिसके तहत भोजन तैयार किया जाता है, को मध्यवर्ती खाद्य वितरण तंत्र में स्थानांतरित कर दिया गया है, सभी ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग (online food ordering) और डिलीवरी कंपनियां (delivery companies ) यह सुनिश्चित करेंगी कि एफबीओ पंजीकृत (FBOs registered)  उनके साथ संबद्ध फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Food Safety and Standards Authority of India) की अनुभवहीन कंपनियों से की गई उनकी रेटिंग है।

उन्होंने कहा कि पंजाब में प्रमुख (online food ordering) और डिलीवरी कंपनियां (delivery companies ) का संचालन करने वाले प्रतिनिधियों जैसे ज़ोमैटो (Zomato), स्विगी (Swiggy), उबर ईट्स (Uber Eats) और ओला (Ola) के फूड पांडा ( Food Panda) को इस मुद्दे पर संवेदनशील बनाया गया है।

READ  Flipkart बोर्ड ने Walmart के साथ $15 बिलियन में 75% हिस्सेदारी की डील को मंजूरी दी

RedSeer Consulting के अनुसार, भारत में ऑनलाइन खाद्य वितरण बाजार (online food delivery market), 90 प्रतिशत की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) पर बढ़ रहा है और वित्त वर्ष 2015 तक इसके 4 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है। इसकी तुलना में, भारत में समग्र खाद्य वितरण बाजार का आकार $ 36 बिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है, जो 24 प्रतिशत के सीएजीआर (CAGR) से बढ़ रहा है।

गौरतलब है कि इससे पहले मार्च में, ज़ोमैटो (Zomato) ने सुरक्षित और स्वच्छ भोजन वितरण सुनिश्चित करने के लिए छेड़छाड़-प्रूफ पैकेजिंग शुरू की थी, ज़ोमैटो (Zomato) ने अपने ब्लॉग में बताया कि सील पैकेज को तोड़ने का एकमात्र तरीका टॉप-एंड स्ट्रिप ( top-end strip) को काटकर होगा।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *